Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मुफ्तखोरी की हुजूर हद हो गई है

मुफ्तखोरी की हजूर हद हो गई है
ख़ज़ाने की हालत गंभीर हो गई है
नहीं वो दिन दूर है, किस्सा बहुत मशहूर है
कब तक उधार लेकर,घी पिएंगे
पैर चादर से बाहर निकल आए,कब तक सिलेंगे
एक दिन दिवालिया होकर रहेंगे
मुफ्त खोरी के चक्कर में, रैयत हराम खोर हो रही है
पड़े पड़े शराब खोरी कर रही है
धीरे धीरे अकर्मण्य हो रही है
हूजर सिंहासन के चक्कर में राज्य डूब जाएगा
अव्यवस्थाओं के दौर में, कौन बचाएगा
हूजर रैयत को,हरामखोरी की आदत न डालिए
देश सिंहासन से महत्वपूर्ण है,खतरे में न डालिए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

3 Likes · 2 Comments · 135 Views
You may also like:
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
बहुजन की भारत माता
Shekhar Chandra Mitra
आईना और वक्त
बिमल
तुम बिन लगता नही मेरा मन है
Ram Krishan Rastogi
बी एफ
Ashwani Kumar Jaiswal
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
मुबारक हो।
Taj Mohammad
सावन सजनी पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
भूल ना पाऊं।
Taj Mohammad
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मां के तट पर
जगदीश लववंशी
सड़क दुर्घटना में अभिनेता दीप सिद्धू का निधन कई सवाल,...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जमाने मे जिनके , " हुनर " बोलते है
Ram Ishwar Bharati
✍️अपने शामिल कितने..!✍️
'अशांत' शेखर
तुझे वो कबूल क्यों नहीं हो मैं हूं
Krishan Singh
हर घर तिरंगा प्यारा हो - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
"मैं फ़िर से फ़ौजी कहलाऊँगा"
Lohit Tamta
चलना ही पड़ेगा
Mahendra Narayan
विसाले यार ना मिलता है।
Taj Mohammad
आंखों में जब
Dr fauzia Naseem shad
✍️न जाने वो कौन से गुनाहों की सज़ा दे रहा...
Vaishnavi Gupta
क्यों भूख से रोटी का रिश्ता
Dr fauzia Naseem shad
ये जिंदगी ना हंस रही है।
Taj Mohammad
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
मुझको रूलाया है।
Taj Mohammad
" कोरोना "
Dr Meenu Poonia
पिता है भावनाओं का समंदर।
Taj Mohammad
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...