Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 16, 2021 · 1 min read

मुझे बारिश पसंद है

मुझे बारिश पसंद है
हाँ बचपन से ही मुझे बारिश पसंद है…
घर के अंदर बंद खिड़की से झाककर
अच्छा लगता था पानी की बूंदो को धरती पर आते ही अपना रुप बदलते देखना ,वो कागज की नांव बनाकर खिडकी से नांव को छोड़ देना और देखना की किसकी नांव आगे जायेगी
हाँ बचपन से ही मुझे बारिश पसंद है….
अच्छा लगता था बरसात के दिनो मे बिजली का गुल हो जाना
और रजाई के अंदर घुसकर 1 से 100 तक की गिनती करना
और 100 आते ही बिजली का आ जाना
हाँ बचपन से ही मुझे बारिश पसंद है….
अच्छा लगता था जब तेज बारिश होने पर जल्दी स्कूल छुट्टी हो जाती थी
और हम घर न जाकर सड़को पर चहल कदमी करते थे
हाँ बचपन से ही मुझे बारिश पसंद है और ये पसंद आज तक
बदली नही मेरी…. (सुरभी)

4 Likes · 11 Comments · 222 Views
You may also like:
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*मेरे देश का सैनिक*
Prabhudayal Raniwal
कल भी होंगे हम तो अकेले
gurudeenverma198
$ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
हर रोज योग करो
Krishan Singh
बेकार ही रंग लिए।
Taj Mohammad
माँ दुर्गे!
Anamika Singh
हिंदी से प्यार करो
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बुरी आदत की तरह।
Taj Mohammad
सेमर
विकास वशिष्ठ *विक्की
*अमृत-सरोवर में नौका-विहार*
Ravi Prakash
मै और तुम ( हास्य व्यंग )
Ram Krishan Rastogi
निशां मिट गए हैं।
Taj Mohammad
लोग जमसे गये है।
"अशांत" शेखर
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
जीतने की उम्मीद
AMRESH KUMAR VERMA
मां का आंचल
VINOD KUMAR CHAUHAN
सत्य भाष
AJAY AMITABH SUMAN
रावण का प्रश्न
Anamika Singh
मोहब्बत
Kanchan sarda Malu
दिनांक 10 जून 2019 से 19 जून 2019 तक अग्रवाल...
Ravi Prakash
प्रिय
D.k Math
किसी पथ कि , जरुरत नही होती
Ram Ishwar Bharati
लाल टोपी
मनोज कर्ण
तेरी एक तिरछी नज़र
DESH RAJ
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
" हाथी गांव "
Dr Meenu Poonia
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
Loading...