Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

मुझे तुमसे प्यार है बहुत

जानेमन मुझे तुमसे प्यार है बहुत,
तेरे बिन दिल ये बेकरार है बहुत.

ख़फा न हो तुम मुझसे मेरी नाजनीं,
तेरे आने से ये दिल गुलज़ार है बहुत.

मेरी दिलरुबा तुमने हर बार सम्भाला,
तेरी दूवाओं की मुझे दरकार है बहुत.

बातें मैं करता हूँ सभी से हँसकर ही,
बाकी मेरी जिंदगी में किरदार है बहुत.

मुकम्मल हुई कितनों को उन्हें गिन लो,
बाकी तो यहां इश्क के बीमार है बहुत.

भूला नहीं पाओगे तुम दूर होकर भी,
तेरे लौटने के मुझे आसार है बहुत.

दिल चाहता इसी वक्त तेरे पास आऊं,
वादे से हम अपने ही लाचार है बहुत.

राह-ए-इश्क से’ देव’ दूर नहीं जाऊंगा,
माना वफ़ा का रास्ता दुश्वार है बहुत.
__देवांशु

4 Comments · 354 Views
You may also like:
फूलों की तरह
shabina. Naaz
🌈🌈प्रेम की राह पर-66🌈🌈
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
दिल ने
Anamika Singh
गुरु है महान ( गुरु पूर्णिमा पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
लिपट कर तिरंगे में आऊं
AADYA PRODUCTION
JNU CAMPUS
मनोज शर्मा
पाब्लो नेरुदा
Pakhi Jain
अनुरोध
Rashmi Sanjay
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
समय
Saraswati Bajpai
✍️कलम और चमच✍️
'अशांत' शेखर
ताज़गी
Shivkumar Bilagrami
चांद और चांद की पत्नी
Shiva Awasthi
श्रेय एवं प्रेय मार्ग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एहसास-ए-हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
खानदानी जागीर
Shekhar Chandra Mitra
👌स्वयंभू सर्वशक्तिमान👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
" किन्नर के मन की बात “
Dr Meenu Poonia
दुश्मन जमाना बेटी का
लक्ष्मी सिंह
Writing Challenge- वादा (Promise)
Sahityapedia
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
Kanchan Khanna
*दशहरे का मेला (बाल कविता)*
Ravi Prakash
आया सावन - पावन सुहवान
Rj Anand Prajapati
दरों दीवार पर।
Taj Mohammad
हम आज भी तेरे
Dr fauzia Naseem shad
तू पसन्द है मुझको
gurudeenverma198
प्रेम आनंद
Buddha Prakash
प्रिय
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
सरस्वती आरती
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...