Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Jun 10, 2016 · 1 min read

मुझको मिले जो आजतक सम्मान मत छीनो !

मुझको मिले जो आजतक सम्मान मत छीनो !
उड़ता हूँ हौसले से मेरी उड़ान मत छीनो !

पहचान है मेरी मेरे शब्दों कलम से ,
है निवेदन आपसे पहचान मत छीनो !!

जां से भी ज्यादा प्यार मुझे मातृभूमि से,
करके इसका अपमान मेरी जान मत छीनो !!

दिनभर चलाते हल यहा किसान खेत में ,
कम करके भाव अन्न का खलिहान मत छीनो !!

रचना पढ़ूँगा मंच से बजेगी तालियाँ ,
जुगनू के मधुर कंठ की तान मत छीनो !

09200573071

134 Views
You may also like:
ये बारिश का मौसम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कुछ और तो नहीं
Dr fauzia Naseem shad
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पिता
Ram Krishan Rastogi
इस दर्द को यदि भूला दिया, तो शब्द कहाँ से...
Manisha Manjari
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
दिल से रिश्ते निभाये जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
तप रहे हैं दिन घनेरे / (तपन का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
फिर भी वो मासूम है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हर घर तिरंगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
पवनपुत्र, हे ! अंजनि नंदन ....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आदर्श पिता
Sahil
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी
Buddha Prakash
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बोझ
आकांक्षा राय
अब भी श्रम करती है वृद्धा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कोशिशें हों कि भूख मिट जाए ।
Dr fauzia Naseem shad
चलो एक पत्थर हम भी उछालें..!
मनोज कर्ण
सच्चे मित्र की पहचान
Ram Krishan Rastogi
पिता
लक्ष्मी सिंह
Loading...