Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#17 Trending Author

मुख भा रहा

मुख भा रहा
**********
कुछ आ रहा,
कुछ जा रहा।

जादू हुआ,
मन छा रहा।

सुन्दर लगा,
मुख भा रहा।

देखा तुझे,
घबरा रहा।

कैसे कहूँ,
शरमा रहा,

कुछ तो बता,
धमका रहा।

सीरत बहुत,
सह पा रहा।
***********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

19 Views
You may also like:
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
जिंदगी की फरमाइश - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
The moon descended into the lake.
Manisha Manjari
सांसें कम पड़ गई
Shriyansh Gupta
शादी से पहले और शादी के बाद
gurudeenverma198
कितनी इस दर्द ने
Dr fauzia Naseem shad
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
महिला काव्य
AMRESH KUMAR VERMA
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
नसीब
DESH RAJ
✍️वो भूल गये है...!!✍️
'अशांत' शेखर
प्रलयंकारी कोरोना
Shriyansh Gupta
मजदूर बिना विकास असंभव ..( मजदूर दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
देखो
Dr.Priya Soni Khare
ज़मीं की गोद में
Dr fauzia Naseem shad
लबों से मुस्करा देते है।
Taj Mohammad
*बुद्ध पूर्णिमा 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
आयेगी मौत तो
Dr fauzia Naseem shad
💐💐प्रेम की राह पर-50💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
धीरता संग रखो धैर्य
Dr.Alpa Amin
हरा जगत में फैलता, सिमटे केसर रंग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग - 5
Dr. Meenakshi Sharma
दोहावली-रूप का दंभ
asha0963
दिल ने
Anamika Singh
आज के ख़्वाब ने मुझसे पूछा
Vivek Pandey
प़थम स्वतंत्रता संग्राम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वात्सल्य का शजर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बेकार ही रंग लिए।
Taj Mohammad
सुरज से सीखों
Anamika Singh
Loading...