Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

मुक्तक

लगा दे घाव पर मरहम , दिवाना आज है कोई
कसकते लब हँसी ला दे , तराना साज है कोई
गुमशुदा हो भटकते जो , फिरे आतंक के तम में
जुदा रूहें मिला दे पल , बता वह राज है कोई

Language: Hindi
442 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
एक आंसू
एक आंसू
Surinder blackpen
रह गया मैं सिर्फ
रह गया मैं सिर्फ " लास्ट बेंच "
Rohit yadav
सुर बिना संगीत सूना.!
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
भारत रत्न डॉक्टर विश्वेश्वरैया अभियांत्रिकी दिवस
भारत रत्न डॉक्टर विश्वेश्वरैया अभियांत्रिकी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
My Expressions
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
दोहे- दास
दोहे- दास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
■ अभिमत.....
■ अभिमत.....
*Author प्रणय प्रभात*
गम्भीर हवाओं का रुख है
गम्भीर हवाओं का रुख है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भागमभाग( हिंदी गजल)
भागमभाग( हिंदी गजल)
Ravi Prakash
ज़िन्दगी में सभी के कई राज़ हैं ।
ज़िन्दगी में सभी के कई राज़ हैं ।
Arvind trivedi
लेकिन, प्यार जहां में पा लिया मैंने
लेकिन, प्यार जहां में पा लिया मैंने
gurudeenverma198
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
हश्र का मंज़र
हश्र का मंज़र
Shekhar Chandra Mitra
जो दिल में है
जो दिल में है
Dr fauzia Naseem shad
मोहब्बत का मेरी, उसने यूं भरोसा कर लिया।
मोहब्बत का मेरी, उसने यूं भरोसा कर लिया।
इ. प्रेम नवोदयन
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
Pakhi Jain
घर घर तिरंगा हो।
घर घर तिरंगा हो।
Rajesh Kumar Arjun
कुछ गम सुलगते है हमारे सीने में।
कुछ गम सुलगते है हमारे सीने में।
Taj Mohammad
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
ruby kumari
पथिक तुम इतने विव्हल क्यों ?
पथिक तुम इतने विव्हल क्यों ?
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नकाबपोश रिश्ता
नकाबपोश रिश्ता
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
श्रावणी हाइकु
श्रावणी हाइकु
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पर्वत
पर्वत
Rohit Kaushik
सुविचार
सुविचार
Sarika Dhupar
मां कात्यायनी
मां कात्यायनी
Mukesh Kumar Sonkar
शेर
शेर
Rajiv Vishal (Rohtasi)
💐प्रेम कौतुक-256💐
💐प्रेम कौतुक-256💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*दिल का दर्द*
*दिल का दर्द*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हाथ मलना चाहिए था gazal by Vinit Singh Shayar
हाथ मलना चाहिए था gazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
देश की शान है बेटियां
देश की शान है बेटियां
Ram Krishan Rastogi
Loading...