Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2016 · 1 min read

** नव मुक्तक **

***** मुक्तक *****
हम धर्म के मर्म को जानें, नफरत की पीडा को जानेंं,
गीता बाइबिल कुरान ग्रन्थ की, आत्मा को भी हम जानें,
मानवता पर जो थूक रहे, उन आतंकी को खाक करें,
ऐसा दर्द लिखो मस्तक पर, वो दुख का मतलब भी जानें,
******* सुरेशपाल वर्मा जसाला

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
493 Views
You may also like:
वासना और करुणा
मनोज कर्ण
गर जा रहे तो जाकर इक बार देख लेना।
सत्य कुमार प्रेमी
# सुप्रभात .......
Chinta netam " मन "
सुनो ए दोस्त
shabina. Naaz
मैं डरती हूं।
Dr.sima
मार्मिक फोटो
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ज़िंदा घर
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
मातृभूमि
Rj Anand Prajapati
यही है मेरा ख्वाब मेरी मंजिल
gurudeenverma198
Writing Challenge- त्याग (Sacrifice)
Sahityapedia
दुआ कीजिएगा
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
दोस्त जीवन में एक सच्चा दोस्त ज़रूर कमाना….
Piyush Goel
खूबसूरत बहुत हैं ये रंगीन दुनिया
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
ग्रहण
ओनिका सेतिया 'अनु '
इश्क ए बंदगी में।
Taj Mohammad
*दादा जी को खॉंसी आती (बाल कविता/ हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
कुछ लम्हें ऐसे गुज़रे
Dr fauzia Naseem shad
तितली तेरे पंख
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
✍️वो भूल गये है...!!✍️
'अशांत' शेखर
नयी बहुरिया घर आयी*
Dr. Sunita Singh
You Have Denied Visiting Me In The Dreams
Manisha Manjari
'गुरु' (देव घनाक्षरी)
Godambari Negi
सम्मान
Saraswati Bajpai
पक्षी
Sushil chauhan
फिर एक समस्या
डॉ एल के मिश्र
बिछड़न [भाग २]
Anamika Singh
उपदेश से तृप्त किया ।
Buddha Prakash
बड़ी आरज़ू होती है ......................
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
Loading...