Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 16, 2022 · 1 min read

हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)

***********************************
कोकिला-सुर से गुंजता था- जहाॅं का चमन!
उड़ गई भू से लता-कोयल! सूना पड़ा चमन।
ये स्वर साम्राज्ञी- पहचान थी हिन्दुस्तान की!
स्वर्गीया- लताजी को सदा याद करेगा वतन।।
***********************************
स्वर्गीया:- दीदी लता जी को शत् शत् नमन!
***********************************
।===*रचयिता: प्रभु दयाल रानीवाल*==।
।======*उज्जैन*{मध्यप्रदेश}*=====।
***********************************

3 Likes · 766 Views
You may also like:
नास्तिक सदा ही रहना...
मनोज कर्ण
संघर्ष
Anamika Singh
यूं तो लगाए रहता है हर आदमी छाता।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️ओर भी कुछ है जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कोई रोक नही सकता
Anamika Singh
विवश मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
🌺प्रेमस्य रसः ज्ञानस्य रसेण बहु विलक्षणं🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हे महाकाल, शिव, शंकर।
Taj Mohammad
बनकर जनाजा।
Taj Mohammad
*योग-ज्ञान भारत की पूॅंजी (गीत)*
Ravi Prakash
कैसा इम्तिहान है।
Taj Mohammad
तेरी खैर मांगता हूं।
Taj Mohammad
✍️कांटने लगते है घर✍️
'अशांत' शेखर
जिंदगी एक बार
Vikas Sharma'Shivaaya'
हैप्पी फादर्स डे (लघुकथा)
drpranavds
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
हमें जाँ से प्यारा हमारा वतन है..
अश्क चिरैयाकोटी
प्रेयसी
Dr. Sunita Singh
"ज़िंदगी अगर किताब होती"
पंकज कुमार "कर्ण"
✍️मैं जलजला हूँ✍️
'अशांत' शेखर
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
✍️हर बूँद की दास्ताँ✍️
'अशांत' शेखर
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
भूख सी बेबसी नहीं देखी
Dr fauzia Naseem shad
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जवाब दो
shabina. Naaz
करो नहीं किसी का अपमान तुम
gurudeenverma198
आवत हिय हरषै नहीं नैनन नहीं स्नेह।
sheelasingh19544 Sheela Singh
Loading...