Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

“मुक्तक”.(खाली दिमाग)…

“मुक्तक”…

“खाली दिमाग” बुराई का घर है।
उसके हर कदम दुखदाई डगर है।
दिमाग अपना लगाइए सही जगह,
अगर आपको, अपनों की फिकर है।

स्वरचित सह मौलिक
पंकज कर्ण
कटिहार

6 Likes · 222 Views
You may also like:
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
राजनीति ओछी है लोकतंत्र आहत हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️ग़लतफ़हमी✍️
'अशांत' शेखर
वह मेरे पापा हैं।
Taj Mohammad
दर्दों ने घेरा।
Taj Mohammad
जीवन जीने की कला, पहले मानव सीख
Dr Archana Gupta
कलम के सिपाही
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जगत के स्वामी
AMRESH KUMAR VERMA
पापा क्यूँ कर दिया पराया??
Sweety Singhal
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
Time never returns
Buddha Prakash
ईद हो जायेगी।
Taj Mohammad
अपनी क़िस्मत को फिर बदल कर देखते हैं
Muhammad Asif Ali
'रूप बदलते रिश्ते'
Godambari Negi
क्रांतिवीर हेडगेवार*
Ravi Prakash
कोरोना काल
AADYA PRODUCTION
मेरे पापा
Anamika Singh
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ऐ काश, ऐसा हो।
Taj Mohammad
पुकार सुन लो
वीर कुमार जैन 'अकेला'
पुस्तक समीक्षा *तुम्हारे नेह के बल से (काव्य संग्रह)*
Ravi Prakash
*#महापुरुषों_के_पत्र* (संस्मरण)
Ravi Prakash
विश्वास और शक
Dr Meenu Poonia
कुछ चेहरे खुशियों में भी नम होते हैं।
Taj Mohammad
हमरा अप्पन निज धाम चाही...
मनोज कर्ण
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
दिल को तेरी तमन्ना
Dr fauzia Naseem shad
पहले तेरे हाथों पर
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
यादों की बारिश का कोई
Dr fauzia Naseem shad
Loading...