Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

“मुक्तक”(जिंदगी)….

“मुक्तक”
#####

ये जिंदगी भी बड़ी ही अजीब है।
कोई अमीर है तो कोई गरीब है।
फिर भी दुख तो झेलता सब यहां,
जिसके जो अपने अपने नसीब है।….✍️

स्वरचित सह मौलिक
पंकज कर्ण
कटिहार।

6 Likes · 3 Comments · 366 Views
You may also like:
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️आखरी कोशिश✍️
'अशांत' शेखर
बद्दुआ।
Taj Mohammad
" नाखून "
Dr Meenu Poonia
ट्रेजरी का पैसा
Mahendra Rai
चेहरा
शिव प्रताप लोधी
कल खो जाएंगे हम
AMRESH KUMAR VERMA
दरों दीवार पर।
Taj Mohammad
"समय का पहिया"
Ajit Kumar "Karn"
गँउआ
श्रीहर्ष आचार्य
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
प्रेम चिन्ह
sangeeta beniwal
कर्म में कौशल लाना होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कारण के आगे कारण
सूर्यकांत द्विवेदी
मरने की इजाज़त
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
कलम नही लिख पाया
Anamika Singh
रिश्तों की अहमियत को न करें नज़र अंदाज़
Dr fauzia Naseem shad
*श्री राजेंद्र कुमार शर्मा का निधन : एक युग का...
Ravi Prakash
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
लागेला धान आई ना घरे
आकाश महेशपुरी
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️दिल शायर होता है...✍️
'अशांत' शेखर
पिता
Vandana Namdev
HAPPY BIRTHDAY SHIVANS
KAMAL THAKUR
ग्रामीण चेतना के महाकवि रामइकबाल सिंह ‘राकेश
श्रीहर्ष आचार्य
नव भारत
पाण्डेय चिदानन्द
✍️दिव्याची महत्ती...!✍️
'अशांत' शेखर
आई सावन की बहार,खुल कर मिला करो
Ram Krishan Rastogi
Loading...