Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मीत मिले कृष्णा जैसा

मुझे मीत मिले कृष्णा के जैसा,
निर्मल प्रेम मिले राधा रानी के जैसा।
सास्वत भाग्य मिले रुक्मिणी
के जैसा,
तो जीवन मे दुःख काहें का।

भक्ति मिले हनुमानजी के जैसा,
सुमिरण करूँ दिन -रात हरि का।
मिले भाई भरत के जैसा,
जिसे लोभ नही राजगद्दी का।

पुत्र मिले रामजी के जैसा,
जो मान रखे पिता के वचनों का।
संगत मिले हमेशा संतो की,
जिनसे ज्ञान मिले सत-पथ पर
चलने का।

शक्ति मिले माँ दुर्गा के जैसा,
उन्मूलन कर सकूं अपने मन के
विकारों का।
ओज मिले भगवान शंकर के
जैसा,
जिनसे सीख मिले सरल जीवन
जीने का।
(स्व रचित)….आलोक पांडेय गरोठ वाले

4 Likes · 6 Comments · 407 Views
You may also like:
बेजुबां जीव
Jyoti Khari
परिंदों से कह दो।
Taj Mohammad
रंग हरा सावन का
श्री रमण 'श्रीपद्'
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
शून्य की महिमा
मनोज कर्ण
*पंडित ज्वाला प्रसाद मिश्र और आर्य समाज-सनातन धर्म का विवाद*
Ravi Prakash
संघर्ष
Anamika Singh
غزل - دینے والے نے ہمیں درد بھائی کم نہ...
Shivkumar Bilagrami
कल खो जाएंगे हम
AMRESH KUMAR VERMA
राष्ट्रमंडल खेल- 2022
Deepak Kohli
ऐ जिंदगी।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में...
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
“ गलत प्रयोग से “ अग्निपथ “ नहीं बनता बल्कि...
DrLakshman Jha Parimal
नास्तिक सदा ही रहना...
मनोज कर्ण
"आम की महिमा"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
स्वादिष्ट खीर
Buddha Prakash
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
विन मानवीय मूल्यों के जीवन का क्या अर्थ है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐तर्जुमा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हक़ीक़त न पूछिये मुफलिसी के दर्द की।
Dr fauzia Naseem shad
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
नादानियाँ
Anamika Singh
अगर की हमसे मोहब्बत
gurudeenverma198
नई जिंदगानी
AMRESH KUMAR VERMA
नाशवंत आणि अविनाशी
Shyam Sundar Subramanian
प्रकृति का क्रोध
Anamika Singh
मेरे गाँव का अश्वमेध!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
✍️कालचक्र✍️
'अशांत' शेखर
Loading...