Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2022 · 1 min read

मिसाले हुस्न का

मिसाले हुस्न का नशा भी उतार देती हैं ।
समय की गर्दिशे चेहरा बिगाड़ देती हैं ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
23 Likes · 6 Comments · 542 Views
You may also like:
✍️कैसी खुशनसीबी ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
आग
Anamika Singh
करता है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीवन मे एक दिन
N.ksahu0007@writer
कण-कण तेरे रूप
श्री रमण 'श्रीपद्'
भैंस के आगे बीन बजाना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
एक तुम्हारे होने से...!!
Kanchan Khanna
बन जायेगा जल्द ही
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
कविता
Sushila Joshi
रमेश छंद "नन्ही गौरैया"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
करना धनवर्षा उस घर
gurudeenverma198
*रिश्वत ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
वक्त
Shyam Sundar Subramanian
'जिंदगी'
Godambari Negi
इतना काफी है
Saraswati Bajpai
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
आम ही आम है !
हरीश सुवासिया
आज बच्चों के हथेली पर किलकते फोन हैं।
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
शायर का फ़र्ज़
Shekhar Chandra Mitra
"बीते दिनों से कुछ खास हुआ है"
Lohit Tamta
जीना अब बे मतलब सा लग रहा है।
Taj Mohammad
शिशिर की रात
लक्ष्मी सिंह
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दिल तुम्हें
Dr fauzia Naseem shad
# जिंदगी ......
Chinta netam " मन "
【7】** हाथी राजा **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️एक ख़ुर्शीद आया✍️
'अशांत' शेखर
हिंदी दोहा-टोपी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
इश्क़
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...