Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मित्रों की दुआओं से…

सभी मित्रों की दुआओं
से मिलती ऊर्जा अपार
रुक रुक याद आते रहे
जीवन में मिले सभी किरदार
दुश्वारियों ने बहुत कम कर
दिया मिलने जुलने का दौर
यादों में झिलमिलाया करते
मित्रों संग गुजरे हुए कई दौर
हे सर्व समर्थ रामजी करो
मेरी प्रार्थना को स्वीकार
सुमति से सुपथ. सद्मार्ग पर
सतत चलता रहूं निर्विकार

44 Views
You may also like:
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आयेगी
Ram Krishan Rastogi
ऐ ...तो जिंदगी हैंं...!!!!
Dr.Alpa Amin
उड़ चले नीले गगन में।
Taj Mohammad
ख़्वाहिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
माटी - गीत
Shiva Awasthi
भारत माँ के वीर सपूत
Kanchan Khanna
तुझे देखूं सुबह शाम।
Taj Mohammad
सुन मेरे बच्चे !............
sangeeta beniwal
✍️वो मेरी तलाश में…✍️
'अशांत' शेखर
कहानी *"ममता"* पार्ट-5 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
पिता
Ray's Gupta
चंद सांसे अभी बाकी है
Arjun Chauhan
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
चाय की चुस्की
श्री रमण 'श्रीपद्'
गुनाह पर गुनाह।
Taj Mohammad
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
एक मुठी सरसो पीट पीट बरसो
आकाश महेशपुरी
*जिनको डायबिटीज (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
#15_जून
Ravi Prakash
कड़वा सच
Rakesh Pathak Kathara
✍️"बारिश भी अक्सर भुख छीन लेती है"✍️
'अशांत' शेखर
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
मां से बिछड़ने की व्यथा
Dr.Alpa Amin
थक चुकी ये ज़िन्दगी
Shivkumar Bilagrami
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बरसात
प्रकाश राम
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
**साधुतायां निष्ठा**
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
.✍️कबीर-मुर्शिद मेरा✍️
'अशांत' शेखर
आदमी की आवाज हैं नागार्जुन
Ravi Prakash
Loading...