Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मिड -डे मील —— कविता

मिड -डे मील

पुराने फटे से टाट पर

स्कूल के पेड के नीचे

बैठे हैं कुछ गरीब बस्ती के बच्चे

कपडों के नाम पर पहने हैं

बनियान और मैली सी चड्डी

उनकी आँखों मे देखे हैं कुछ ख्वाब

कलम को पँख लगा उडने के भाव

उतर आती है मेरी आँखों मे

एक बेबसी, एक पीडा

तोडना नही चाहती

उनका ये सपना

उन्हें बताऊँ कैसे

कलम को आजकल

पँख नही लगते

लगते हैँ सिर्फ पैसे

कहाँ से लायेंगे

कैसे पढ पायेंगे

उनके हिस्से तो आयेंगी

बस मिड -डे मील की कुछ रोटियाँ

नेता खेल रहे हैं अपनी गोटियाँ

इस रोटी को खाते खाते

वो पाल लेगा अंतहीन सपने

जो कभी ना होंगे उनके अपने

फिर वो तो सारी उम्र

अनुदान की रोटी ही चाहेगा

और इस लिये नेताओं की झोली उठायेगा

काश! कि इस

देश मे हो कोई सरकार

जिसे देश के भविष्य से हो सरोकार

1 Like · 2 Comments · 939 Views
You may also like:
✍️बुलडोझर✍️
"अशांत" शेखर
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
राम काज में निरत निरंतर अंतस में सियाराम हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
विन मानवीय मूल्यों के जीवन का क्या अर्थ है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
लांगुरिया
Subhash Singhai
जमाने मे जिनके , " हुनर " बोलते है
Ram Ishwar Bharati
क्रांतिसूर्य
"अशांत" शेखर
“ कोरोना ”
DESH RAJ
आज अपने ही घर से बेघर हो रहे है।
Taj Mohammad
रेशमी रुमाल पर विवाह गीत (सेहरा) छपा था*
Ravi Prakash
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
मानव तू हाड़ मांस का।
Taj Mohammad
पुस्तक समीक्षा
Rashmi Sanjay
✍️झूठा सच✍️
"अशांत" शेखर
नादानी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
कभी अलविदा न कहेना....
Dr. Alpa H. Amin
सरकारी नौकरी वाली स्नेहलता
Dr Meenu Poonia
माँ क्या लिखूँ।
Anamika Singh
जेष्ठ की दुपहरी
Ram Krishan Rastogi
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*अंतिम प्रणाम ! डॉक्टर मीना नकवी*
Ravi Prakash
हादसा
श्याम सिंह बिष्ट
ताला-चाबी
Buddha Prakash
ज्योति : रामपुर उत्तर प्रदेश का सर्वप्रथम हिंदी साप्ताहिक
Ravi Prakash
काबुल का दंश
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
कायनात से दिल्लगी कर लो।
Taj Mohammad
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...