Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 27, 2022 · 1 min read

मिठास- ए- ज़िन्दगी

ये हयात बड़ी है मिठास
पर अक्सर मानुजों को
इन अनुपम से भुवन में
इसकी माधुर्य की माधुरी
लेने के लिए न आती है
कईयों का इन मधु तक
परे-पृथक तक न वास्ता
वो उद्भव होता जगत में
किसी तरह वो होता बड़ा
सत शादी कर पालते वत्स
फिर इस जहां से चल बसते
मिठास-ए-जिंदगी सतत जीए ।

कुछ लोगों तो जीते जग में
क्षितीश, अवनीश का तरह
जितने पल है उतने पल ही
वो संग- संग ही जिया करते
जिंदगी की मिठास- तितास
सबों को वो उल्लास से जीते
दुस्साध्यों मे वो अकुलाते न
बल्कि डटकर करते धृष्टता
निज शिखर को निखारते…
वो चलते जाते सतत ही
एक दिवा उन्हें मिलती शिखर
मिठास – ए – जिंदगी सतत जीए ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

44 Views
You may also like:
भूख सी बेबसी नहीं देखी
Dr fauzia Naseem shad
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
बदलती दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
*#गोलू_चिड़िया और #पिंकी (बाल कहानी)*
Ravi Prakash
【7】** हाथी राजा **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
💐मनुष्यशरीरस्य शक्ति: सुष्ठु नियोजनं💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये मोहब्बत राज ना रहती है।
Taj Mohammad
मत करना
dks.lhp
Gazal
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
कविता " बोध "
vishwambhar pandey vyagra
दो पल का जिंदगानी...
AMRESH KUMAR VERMA
एक फौजी का अधूरा खत...
Dalveer Singh
कैसे बताऊं,मेरे कौन हो तुम
Ram Krishan Rastogi
पुस्तैनी जमीन
आकाश महेशपुरी
फौजी
Seema Tuhaina
शेर राजा
Buddha Prakash
ज़िंदगी पर भारी
Dr fauzia Naseem shad
मै हिम्मत नही हारी
Anamika Singh
आज नज़रे।
Taj Mohammad
वेश्या का दर्द
Anamika Singh
ख़्वाहिश है तेरी
VINOD KUMAR CHAUHAN
ईश्वर की परछाई
AMRESH KUMAR VERMA
तुम्हीं हो पापा
Krishan Singh
ऐ बादल अब तो बरस जाओ ना
नूरफातिमा खातून नूरी
पीकर जी भर मधु-प्याला
श्री रमण 'श्रीपद्'
अनुपम माँ का स्नेह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
खता क्या हुई मुझसे
Krishan Singh
#किताबों वाली टेबल
Seema Tuhaina
जिम्मेदारी और पिता
Dr. Kishan Karigar
✍️पैरो तले ज़मी✍️
"अशांत" शेखर
Loading...