*मिटने वाली रात नहीं*

*मिटने वाली रात नहीं*
…आनन्द विश्वास

दीपक की है क्या बिसात, सूरज के वश की बात नहीं।
चलते–चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
चारों ओर निशा का शासन,
सूरज भी निस्तेज हो गया।
कल तक जो पहरा देता था,
आज वही चुपचाप सो गया।
सूरज भी दे दे उजियारा , ऐसे अब हालत नहीं,
चलते – चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
इन कजरारी काली रातों में,
चंद्र-किरण भी लुप्त हो गई।
भोली – भाली गौर वर्ण थी,
वह रजनी भी ‘ब्लैक’ हो गई।
सब सुनते हैं, सहते सब, करता कोई आघात नहीं,
चलते – चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
सूरज तो बस एक चना है,
तम का शासन बहुत घना है।
किरण-पुंज भी नजरबंद है,
आँख खोलना सख्त मना है।
किरण-पुंज को मुक्त करा दे, है कोई नभ जात नहीं,
चलते – चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
हर दिन सूरज आये जाये,
पहरा चंदा हर रात लगाये।
तम का मुँह काला करने को,
हर शाम दिवाली दिया जलाये।
तम भी नहीं किसी से कम है, खायेगा वह मात नहीं,
चलते – चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
ढह सकता है कहर तिमिर का,
नर-तन यदि मानव बन जाये।
हो सकता है भोर सुनहरा,
मन का दीपक यदि जल जाये।
तम के मन में दिया जले, तब होने वाली रात नहीं,
चलते – चलते थके सूर्य, पर मिटने वाली रात नहीं।
*****
…आनन्द विश्वास

1 Like · 232 Views
You may also like:
प्रणाम नमस्ते अभिवादन....
Dr. Alpa H.
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
नमन!
Shriyansh Gupta
नीति के दोहे 2
Rakesh Pathak Kathara
देखो! पप्पू पास हो गया
संजीव शुक्ल 'सचिन'
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
धूप कड़ी कर दी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जंगल में एक बंदर आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
सिपाही
Buddha Prakash
मां-बाप
Taj Mohammad
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
"चैन से तो मर जाने दो"
रीतू सिंह
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
ग्रीष्म ऋतु भाग 1
Vishnu Prasad 'panchotiya'
ज़िंदगी।
Taj Mohammad
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
तेरे दिल में कोई साजिश तो नहीं
Krishan Singh
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
Loading...