Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author
Jun 23, 2022 · 1 min read

मायका

एक बेटी के कदम
जैसे ही मायके के
दरवाजे पर पड़ते है
मारे खुशी के उसके
पैर थिरकने लगते हैं
मायके के दहलीज आते ही
मन खुशी से झूमने लगते है।

घर का एक- एक कोना जैसे
खिंच रहा हो उसे अपने अंदर
पुरानी यादें यकायक
आँखों में छलकने लगते हैं
मायका के दहलीज पर आते ही
मन खुशी से झूमने लगते है।

हो ससुराल चाहे कितना भी अच्छा
मायका लगता बेटी को सच्चा
माता-पिता, भइया बहना
से मिलकर
जीवन के उमंग फिर से
जगने लगते है
मायका का दहलीज आते ही
मन खुशी से झूमने लगते हैं।

हँसी ठहाकों मस्ती का दौर
फिर से शुरू हो जाता है
रूखी-सूखी खानों में भी
एक नया स्वाद आ जाता है
प्यार और अपनत्व की खुशी
जीवन में एक नया जायका
लेकर आता है।
मायका का दहलीज आते ही
मन खुशी से झूमने लगता है।

इस जायके साथ जब
वह अपने घर को जाती है
मायका की खूशबू के साथ
ससुराल को वह महकाती है।
इसलिए बीच-बीच में बेटी को
मायका आना जरूरी है।
जीवन उमंग-तरंग भरा रहे
इसलिए मायका का सुख भी जरूरी है।

~अनामिका

4 Likes · 4 Comments · 91 Views
You may also like:
खुदा तो हो नही सकता –ग़ज़ल
रकमिश सुल्तानपुरी
मुक्तक(मंच)
Dr Archana Gupta
मार्मिक फोटो
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
✍️शर्तो के गुलदस्ते✍️
'अशांत' शेखर
जूते जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
डॉक्टर (मुक्तक)
Ravi Prakash
अनामिका के विचार
Anamika Singh
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
भगवान सा इंसान को दिल में सजा के देख।
सत्य कुमार प्रेमी
जिन्दगी।
Taj Mohammad
दुश्मन बना देता है।
Taj Mohammad
शबनम।
Taj Mohammad
जिन्दगी को साज दे रहा है।
Taj Mohammad
🌺🍀दोषा: च एतेषां सत्ता🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
" मीनू की परछाई रानू "
Dr Meenu Poonia
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
मानुष हूं मैं या हूं कोई दरिंदा
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
"फौजी और उसका शहीद साथी"
Lohit Tamta
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
#हे__प्रेम
Varun Singh Gautam
कुछ यादें जीवन के
Anamika Singh
हम भी इसका
Dr fauzia Naseem shad
बिख़रे वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
आयेगी मौत तो
Dr fauzia Naseem shad
तू सर्दियों की गुनगुनी धूप सा है।
Taj Mohammad
पिता का पता
श्री रमण 'श्रीपद्'
Loading...