Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 4, 2022 · 1 min read

मानव स्वरूपे ईश्वर का अवतार ” पिता ”  

हैं उत्तम किरदार सँसार का करता चरितार्थ हैं
वो पिता हैं जो बच्चों के तक़दीर का विधाता है..!!

जिंदा होने का एहसास सांसो की रवानी पिता हैं
जो रखता स्नेह समर्पण ओर फौलादी तनमन हैं..!!

पिता की तारीफ़ करें कैसे कोई अल्फाज नहीं हैं
तभी तो तात का वर्णन कोई लिख पाता नही हैं..!!

संकट से न डरा आफतसे न मुहं मोड हारता हैं
वो पिता हैं जो संघर्ष कर अपने आंसू छुपाता हैं..!!

व्यवसाय जैसा हो महेनत करने से नही शर्माता हैं
औलाद के सपनों को साकार करना उसका ध्येय हैं..!!

सुख-दुख की छाँवमें फर्ज ईमानदारी से निभाता हैं
वो पिता ही परिवार कुटुंब का मुख्य आधार स्तंभ हैं..!!

मां का सिंदूर संतान की पहचान त्यौहार की शान हैं
जिद्द भी पूरी हो जाती जो सर पर पिता का हाथ हैं..!!

पिता जीवन को सिंचने वाला छलकता स्नेहसागर हैं
जो पीड़ा रूपी लहरों को खुद-ब-खुद पी जाता हैं..!!

कुदरत का ऐ अनमोल उपहार जीवन की सार्थकता हैं
संसारमें बंधन की नाजुक डोर समाज की धरोहर हैं..!!

सृष्टिकर्ता की बेहतरीन रचना जग को महेकाता हैं
वो पिता वास्तवमें मानव स्वरूपे ईश्वर का अवतार हैं..!!

डॉ. अल्पा. एच. अमीन
गुजरात (अमदाबाद )

3 Likes · 4 Comments · 164 Views
You may also like:
एक ख़्वाब।
Taj Mohammad
हमारी नींदें
Dr fauzia Naseem shad
अजीब मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
इश्क है क्या
Anamika Singh
ऐ मेघ
सिद्धार्थ गोरखपुरी
भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हंसगति छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
✍️इश्क़ और जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
“ कोरोना ”
DESH RAJ
आज की नारी हूँ
Anamika Singh
भारतवर्ष
Utsav Kumar Aarya
जीवन
Mahendra Narayan
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
तिरंगा मन में कैसे फहराओगे ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
धरती अंवर एक हो गए, प्रेम पगे सावन में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्यारा भारत
AMRESH KUMAR VERMA
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सरकारी चिकित्सक
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ग़ज़ल- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
लड़ते रहो
Vivek Pandey
कविता को बख्श दो कारोबार मत बनाओ।
सत्य कुमार प्रेमी
*"याचना"*
Shashi kala vyas
💐परमात्मा एव संसार-रूपेण प्रकट: भवति💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🌺परमात्प्राप्ति: स्वतः सिद्ध:,,✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माहौल का प्रभाव
AMRESH KUMAR VERMA
पापा
सेजल गोस्वामी
अदम्य जिजीविषा के धनी श्री राम लाल अरोड़ा जी
Ravi Prakash
💐💐मृत्यु: प्रतिक्षणं समया आगच्छति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अर्थ व्यवस्था मनि मेनेजमेन्ट
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...