Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 13, 2021 · 1 min read

मातृ-वीर का बलिदान

आंँखें ऊँनींदी ,ह्रदय है लाल,
मस्तिष्क ओढ़े हुए है काल,
बढ़ चला धारण किए,
तलवार,भाल और कटार,
लथपथ-लथपथ खून से,
रणभूमि के द्वार पर,
जोश और उमंग भरकर,
पीड़ा को हृदय में सहकर,
किए जा रहा खुद को,
बलिदान बलिदान…….।।१।

पताका लहराते हुए,
जश्न को मनाते हुए,
मृत्यु को हराने के लिए,
मातृभूमि को बचाने के लिए,
रुक-रुक कर खुद को,
बौछार सहते हुए ,
तूफान को चीरते हुए,
देश की आन-बान-शान बन के,
न्यौछावर किए जा रहा,
बलिदान बलिदान……..।।२।

एक बार नहीं हजार बार,
एक नहीं हर-एक,
थमेंगे नहीं रुकेंगे नहीं,
मातृभूमि का अपमान सहेंगे नहीं,
मिटा देंगे लुटा देंगे,
सिर कलम कर दिखा देंगे,
बता देंगे उन्हें यह मेरा है,
नहीं देंगे यह भूमि,
स्वयं को यहीं दफना देंगे,
बलिदान बलिदान………।।३।

???

#रचनाकार-बुद्ध प्रकाश;मौदहा हमीरपुर।

7 Likes · 233 Views
You may also like:
गीता की महत्ता
Pooja Singh
नियति
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️ये केवल संकलन है,पाठकों के लिये प्रस्तुत
'अशांत' शेखर
दुआओं की नौका...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
“ स्वप्न मे भेंट भेलीह “ मिथिला माय “
DrLakshman Jha Parimal
कविराज
Buddha Prakash
अब आगाज यहाँ
vishnushankartripathi7
बात चले
सिद्धार्थ गोरखपुरी
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
यूं तो लगाए रहता है हर आदमी छाता।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता
Santoshi devi
यकीन कैसा है
Dr fauzia Naseem shad
हरीतिमा स्वंहृदय में
Varun Singh Gautam
तुम्हारा हर अश्क।
Taj Mohammad
✍️✍️दोस्त✍️✍️
'अशांत' शेखर
ज़िंदगी पर भारी
Dr fauzia Naseem shad
अदना
Shyam Sundar Subramanian
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
हमारा दिल।
Taj Mohammad
✍️घर में सोने को जगह नहीं है..?✍️
'अशांत' शेखर
"याद आओगे"
Ajit Kumar "Karn"
उसूल
Ray's Gupta
कोशिशें हों कि भूख मिट जाए ।
Dr fauzia Naseem shad
हमें जाँ से प्यारा हमारा वतन है..
अश्क चिरैयाकोटी
✍️"नंगे को खुदा डरे"✍️
'अशांत' शेखर
हिन्दू साम्राज्य दिवस
jaswant Lakhara
ये कैसा बेटी बाप का रिश्ता है?
Taj Mohammad
“ WHAT YOUR PARENTS THINK ABOUT YOU ? “
DrLakshman Jha Parimal
दया करो भगवान
Buddha Prakash
दिन जल्दी से
नंदन पंडित
Loading...