Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2023 · 1 min read

“माटी से मित्रता”

“माटी से मित्रता”

मेरा बचपन जिस गली की धूल-माटी में खेला
भुला नहीं पाऊंगा उसे किसी बुलंदियों की छाँव में,
जिन्दगी की शाम जहाँ भी हो मेरी
पार्थिव काया को दफ़्न कर देना मेरे गाँव में…।

– डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति

3 Likes · 2 Comments · 83 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from Dr. Kishan tandon kranti

You may also like:
सुरक्षा कवच
सुरक्षा कवच
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💝एक अबोध बालक💝
💝एक अबोध बालक💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
छत्रपति शिवाजी महाराज की समुद्री लड़ाई
छत्रपति शिवाजी महाराज की समुद्री लड़ाई
Pravesh Shinde
'एक कप चाय' की कीमत
'एक कप चाय' की कीमत
Karishma Shah
*सीता जी : छह दोहे*
*सीता जी : छह दोहे*
Ravi Prakash
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
भारत की दुर्दशा
भारत की दुर्दशा
Shekhar Chandra Mitra
माना तुम्हारे मुकाबिल नहीं मैं ...
माना तुम्हारे मुकाबिल नहीं मैं ...
डॉ.सीमा अग्रवाल
इन  आँखों  के  भोलेपन  में  प्यार तुम्हारे  लिए ही तो सच्चा है।
इन आँखों के भोलेपन में प्यार तुम्हारे लिए ही तो सच्चा है।
Sadhnalmp2001
राम है अमोघ शक्ति
राम है अमोघ शक्ति
Kaushal Kumar Pandey आस
बात
बात
Shyam Sundar Subramanian
Pain changes people
Pain changes people
Vandana maurya
मेरी निगाहों मे किन गुहानों के निशां खोजते हों,
मेरी निगाहों मे किन गुहानों के निशां खोजते हों,
Vishal babu (vishu)
मिले तो हम उनसे पहली बार
मिले तो हम उनसे पहली बार
DrLakshman Jha Parimal
💐प्रेम कौतुक-495💐
💐प्रेम कौतुक-495💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
Deepesh सहल
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
परिवर्तन विकास बेशुमार
परिवर्तन विकास बेशुमार
Tarun Prasad
तथागत प्रीत तुम्हारी है
तथागत प्रीत तुम्हारी है
Buddha Prakash
पैसा
पैसा
Kanchan Khanna
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
लार्जर देन लाइफ होने लगे हैं हिंदी फिल्मों के खलनायक -आलेख
लार्जर देन लाइफ होने लगे हैं हिंदी फिल्मों के खलनायक -आलेख
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
कुन का महल
कुन का महल
Satish Srijan
2317.पूर्णिका
2317.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
इश्क़ का दस्तूर
इश्क़ का दस्तूर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जब नयनों में उत्थान के प्रकाश की छटा साफ दर्शनीय हो, तो व्यर
जब नयनों में उत्थान के प्रकाश की छटा साफ दर्शनीय हो, तो व्यर
Nav Lekhika
कल भी वही समस्या थी ,
कल भी वही समस्या थी ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
12
12
Dr Archana Gupta
क्या हुआ , क्या हो रहा है और क्या होगा
क्या हुआ , क्या हो रहा है और क्या होगा
कृष्ण मलिक अम्बाला
"प्रत्युत्तर"
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...