Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Aug 2016 · 1 min read

माज़ी

याद माज़ी की जब भी आती है.,
पूछ मत किस क़दर रुलाती है.!
यूँ समझ ले कि ज़िन्दगी उस दम.,
ग़म के दरिया में डूब जाती है..!!

( ख़ुमार देहल्वी )

Language: Hindi
1 Like · 403 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
सुबह का भूला
सुबह का भूला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कह पाना मुश्किल बहुत, बातें कही हमें।
कह पाना मुश्किल बहुत, बातें कही हमें।
surenderpal vaidya
डर लगता है
डर लगता है
Shekhar Chandra Mitra
कन्यादान
कन्यादान
Mukesh Kumar Sonkar
" दर्दनाक सफर "
DrLakshman Jha Parimal
(শ্যামা মাকে নিয়ে লেখা কবিতা)
(শ্যামা মাকে নিয়ে লেখা কবিতা)
Arghyadeep Chakraborty
देख लेना चुप न बैठेगा, हार कर भी जीत जाएगा शहर…
देख लेना चुप न बैठेगा, हार कर भी जीत जाएगा शहर…
Anand Kumar
मेरा पिता! मुझको कभी गिरने नही देगा
मेरा पिता! मुझको कभी गिरने नही देगा
अनूप अम्बर
शाम सुहानी
शाम सुहानी
लक्ष्मी सिंह
शिकवा नहीं मुझे किसी से
शिकवा नहीं मुझे किसी से
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
ज्ञान क्या है
ज्ञान क्या है
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चमत्कार
चमत्कार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
युद्ध के मायने
युद्ध के मायने
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
देखिए भी किस कदर हालात मेरे शहर में।
देखिए भी किस कदर हालात मेरे शहर में।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Wishing you a very happy,
Wishing you a very happy,
DrChandan Medatwal
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
जश्न आजादी का
जश्न आजादी का
Kanchan Khanna
अपनी आँखों से ........................................
अपनी आँखों से ........................................
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
" क्या विरोधी ख़ेमे को धराशायी कर पायेगा ब्रह्मास्त्र ? "
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
مستان میاں
مستان میاں
Shivkumar Bilagrami
जहां हिमालय पर्वत है
जहां हिमालय पर्वत है
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Ye Sidhiyo ka safar kb khatam hoga
Ye Sidhiyo ka safar kb khatam hoga
Sakshi Tripathi
रिश्तें - नाते में मानव जिवन
रिश्तें - नाते में मानव जिवन
Anil chobisa
गीतिका...
गीतिका...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सरस्वती बुआ जी की याद में
सरस्वती बुआ जी की याद में
Ravi Prakash
अब हमें ख़्वाब थोड़ी आते हैं
अब हमें ख़्वाब थोड़ी आते हैं
Dr fauzia Naseem shad
देश के नौजवानों
देश के नौजवानों
Anamika Singh
आख़िरी मुलाकात
आख़िरी मुलाकात
N.ksahu0007@writer
जवानी
जवानी
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
Loading...