Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 27, 2021 · 1 min read

“”मां””_ निहाल हो गया ____ शेर

यह तेरा ही कमाल है, मै मालामाल हो गया।
मिला तेरा जो सहारा मुझे, मै बेमिसाल हो गया।
बनी रहे दया तेरी,विनती यही है मेरी।
जीवन अब तक का तो “”मां”” निहाल हो गया।।
*******राजेश व्यास अनुनय********

कोई न मुकाम था, जीवन में संग्राम था ।
बैकारी,गरीबी ने,जकड़ा तमाम था।
लेता रहा नाम तेरा, हुआ _ हुआ काम मेरा।
खुल गए रास्ते “” मां”” किया तूने इंतजाम था।।
*******राजेश व्यास अनुनय*********

4 Likes · 2 Comments · 190 Views
You may also like:
कसूर किसका
Swami Ganganiya
महाराणा प्रताप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जानता है
Dr fauzia Naseem shad
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
मेरी लेखनी
Anamika Singh
💐भगवतः स्मृति: च सेवा च महत्ववान्💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रहे इहाँ जब छोटकी रेल
आकाश महेशपुरी
मरने की इजाज़त
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बी एफ
Ashwani Kumar Jaiswal
कहता है ये दिल मेरा,
Vaishnavi Gupta
Even If I Ever Died
Manisha Manjari
#मजबूरी
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
खेतों की मेड़ , खेतों का जीवन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
द्रौपदी मुर्मू'
Seema Tuhaina
कब मेरी सुधी लोगे रघुराई
Anamika Singh
वो पत्थर
shabina. Naaz
'रूप बदलते रिश्ते'
Godambari Negi
दिवस नहीं मनाये जाते हैं...!!!
Kanchan Khanna
मैं पिता हूँ
सूर्यकांत द्विवेदी
भगत सिंह का प्यार था देश
Anamika Singh
*तीज-त्यौहार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
✍️वो कौन है ✍️
Vaishnavi Gupta
कितनी सुंदरता पहाड़ो में हैं भरी.....
Dr.Alpa Amin
अब मैं बहुत खुश हूँ
gurudeenverma198
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
अंदाज़।
Taj Mohammad
चतुर्मास अध्यात्म
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️एक तारा आसमाँ से टूटा था✍️
"अशांत" शेखर
चराग
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
"राम-नाम का तेज"
Prabhudayal Raniwal
Loading...