Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2023 · 1 min read

माँ वाणी की वन्दना

1. मॉ वाणी की वन्दना

वीणापाणि मॉ की आज आरती उतारूँ और ,
कर जोड़ कहूँ माता मुझे वरदान दो ।
असुरों पे घात किया सुरों को निजात दिया,
माता आज मुझ अधमी पे कुछ ध्यान दो ।।

कर्म यशदायी करें वाणी में भी रस भरें, भक्तिभावना का आज माता अभिमान दो ।
द्वेष से विद्वेष करें हित उपदेश करें,
धरा पे न गोधरा हो इसका निदान दो ।।

बने नहीं अणुबम जले नहीं तन मन ,
प्रेम रसधार बहे ऐसा ही विज्ञान दो ।
मन मकरन्द बहे प्यासा न पपीहा रहे,
सुर सरिता को अम्ब ऐसा ही रुझान दो ।।

शबरी की प्रीत लिखूँ मीरा का संगीत लिखूँ,
लेखनी को माते बस इतना सा ज्ञान दो ।
ऊँच नीच भूख- प्यास रहे नहीं धरती पे ,
ऐसा मॉ जतन करो सबको कल्यान दो ।।

द्रौपदी की आन रहे पॉडवों की शान रहे,
सृष्टि के नियमों में इसका विधान दो ।
शीत बहे चाँदनी से शान्ति झरे दामिनी से,
मलय को ऑधी बनने का न गुमान दो ||

एक हाथ लेखनी हो एक में त्रिशूल रहे,
लेखनी निडर हो त्रिशूल को भी मान दो ।
सृष्टि के सृजन में माँ शारदे का रूप धरो,
अरि के हनन कालिके सी जीभ तान दो ॥

प्रकाश चंद्र , लखनऊ
IRPS (Retd)

Language: Hindi
86 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from Prakash Chandra
View all
You may also like:
सरस्वती वंदना
सरस्वती वंदना
Shailendra Aseem
माता-पिता की जान है उसकी संतान
माता-पिता की जान है उसकी संतान
Umender kumar
माँ तेरे चरणों
माँ तेरे चरणों
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
😜 बचपन की याद 😜
😜 बचपन की याद 😜
*Author प्रणय प्रभात*
ज्ञान के दाता तुम्हीं , तुमसे बुद्धि - विवेक ।
ज्ञान के दाता तुम्हीं , तुमसे बुद्धि - विवेक ।
Neelam Sharma
चांद का पहरा
चांद का पहरा
Surinder blackpen
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
Swami Ganganiya
My Expressions
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
लानत है
लानत है
Shekhar Chandra Mitra
सफर ऐसा की मंजिल का पता नहीं
सफर ऐसा की मंजिल का पता नहीं
Anil chobisa
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह लो।
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह लो।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
लिखता हम त मैथिल छी ,मैथिली हम नहि बाजि सकैत छी !बच्चा सभक स
लिखता हम त मैथिल छी ,मैथिली हम नहि बाजि सकैत छी !बच्चा सभक स
DrLakshman Jha Parimal
"सूखा गुलाब का फूल"
Ajit Kumar "Karn"
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
Dr Archana Gupta
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
💐प्रेम कौतुक-373💐
💐प्रेम कौतुक-373💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम हासिल ही हो जाओ
तुम हासिल ही हो जाओ
हिमांशु Kulshrestha
चतुर लोमड़ी
चतुर लोमड़ी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
✍️✍️नासूर दर्द✍️✍️
✍️✍️नासूर दर्द✍️✍️
'अशांत' शेखर
कहां जीवन है ?
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मेरे एहसास का
मेरे एहसास का
Dr fauzia Naseem shad
मां के आंचल में कुछ ऐसी अजमत रही।
मां के आंचल में कुछ ऐसी अजमत रही।
सत्य कुमार प्रेमी
हृदय परिवर्तन जो 'बुद्ध' ने किया ..।
हृदय परिवर्तन जो 'बुद्ध' ने किया ..।
Buddha Prakash
हाँ, मेरा मकसद कुछ और है
हाँ, मेरा मकसद कुछ और है
gurudeenverma198
"सूदखोरी"
Dr. Kishan tandon kranti
था मैं तेरी जुल्फों को संवारने की ख्वाबों में
था मैं तेरी जुल्फों को संवारने की ख्वाबों में
Writer_ermkumar
*ए.पी. जे. अब्दुल कलाम (गीतिका)*
*ए.पी. जे. अब्दुल कलाम (गीतिका)*
Ravi Prakash
चौपाई छंद में मान्य 16 मात्रा वाले दस छंद {सूक्ष्म अंतर से
चौपाई छंद में मान्य 16 मात्रा वाले दस छंद {सूक्ष्म अंतर से
Subhash Singhai
मतदान
मतदान
साहिल
Loading...