Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 24, 2021 · 2 min read

माँ मेरी सहेली

माँ की ममता सबसे प्यारी ,
कहती हमें वो राज दुलारी ।
बेटों से भी ज्यादा मानती ,
मुझे ही अपना बेटा जानती ।।

मेरे मन में होती जो भी बात ,
बेझिझक कहती हूँ उसके साथ ।
कुछ कहने में उससे डर ना लगती ,
वो मुझे मेरी सहेली सी दिखती ।।

कुछ भी छिपाऊँ उससे तो,
मेरा मन बहुत घबराता है ।
उससे कहे बिना मेरे दिल को,
कहीं चैन नहीं मिल पाता है ।।

अच्छा हो या बुरा,
सब बातें माँ से कहती हूँ ।
कुछ गलत न हो मेरी जिंदगी में,
इसलिये सहेली की तरह रहती हूँ।।

गर जो मैं थोड़ी परेशान रहती तो,
मन ही मन मेरी बात जान लेती है।
बिन कहे ही माँ मेरी, ना जाने कैसे,
सब परेशानी दूर कर देती है ।।

उसका दिल है ममता का सागर,
सदा खुशी ही खुशी वो देती है ।
इन खुशियों के बदले में हमसे,
माँ कभी भी कुछ नहीं लेती है।।

माँ मेरे लिए है एक खंभा,
उसे ही मानती मैं जगदंबा ।
सारे जग में ईश्वर पहुँच न पाते,
इसलिये वो माँ को बनाते ।।

माँ का प्यार पाने को वो भी,
खुद धरती पर बच्चा बनकर आते ।
ब्रह्मा विष्णु महेश तीनों का,
पूरा त्रिलोक ही इसी ममता में समाते ।।

नोट :- यह कविता मैं अपनी पत्नी हेतु उसकी माँ के लिए मदर्स डे पर लिखा था । लेकिन ऐसे यह कविता उन समस्त माताओं और उनकी बेटे – बेटीयों के लिए है । जो माँ – बेटा – बेटी तीनों बिल्कुल सहेली की तरह रहते हैं उसके प्यार में यह समर्पित है मेरी कविता । अच्छा लगे तो आपलोग कृप्या अपना आशीर्वाद जरूर देंगे ।

कवि – मन मोहन कृष्ण
तारीख – 08/05/2021
समय – 08 : 42 ( रात्रि )
संपर्क – 9065388391

277 Views
You may also like:
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
.....उनके लिए मैं कितना लिखूं?
ऋचा त्रिपाठी
महाकवि दुष्यंत जी की पत्नी राजेश्वरी देवी जी का निधन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
✍️कभी जुबाँ आ जाये तो...!✍️
'अशांत' शेखर
✍️मानो तो ये भी सही✍️
'अशांत' शेखर
◆संसारस्य संयोगः अनित्यं च वियोगः नित्य च ◆
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सावन आया
HindiPoems ByVivek
जिंदगी तो धोखा है।
Taj Mohammad
"लेखनी "
DrLakshman Jha Parimal
श्रावण सोमवार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में...
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
ज़िक्र तेरा
Dr fauzia Naseem shad
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
शाम सुहानी सावन की
लक्ष्मी सिंह
🍀🌺परमात्मन: अंश: भवति तु स्वरूपे दोषः न🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जमाने मे जिनके , " हुनर " बोलते है
Ram Ishwar Bharati
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
दो जून की रोटी उसे मयस्सर
श्री रमण 'श्रीपद्'
Nurse An Angel
Buddha Prakash
“ हमर महिसक जन्म दिन पर आशीर्वाद दियोनि ”
DrLakshman Jha Parimal
भेड़ चाल में फंसी माँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
तेरा चलना ओए ओए ओए
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
शत शत नमन उन सपूतों को
gurudeenverma198
पिता के चरणों को नमन ।
Buddha Prakash
स्वर कोकिला लता
RAFI ARUN GAUTAM
दूध होता है लाजवाब
Buddha Prakash
Loading...