Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author
Jun 23, 2022 · 2 min read

माँ तुम सबसे खूबसूरत हो

तुम्हें क्या पता माँ
तुम कितनी खूबसूरत हो
रम्भा, उर्वशी ,मेनका, होगी
स्वर्ग लोक की अप्सराएँ।
पर तुम मेरी नज़र से देखो माँ
तुम इस जन्नत की सबसे
सुन्दर नूर हो।
रब ने नवाजा जिसके रग-रग
में ममता
इस धरती की सबसे बड़ी
खूबसूरत रचना हो तुम माँ।
मेरी नजरो से देखो तुम
कितनी खूबसूरत हो माँ।

मेरी पलकों का ख्वाब है तू माँ
फूलों जैसी सुन्दर हो तुम माँ
गाती भले ही कोयल मीठा है
पर तेरी लोरी में जो मिठास है
वह कोयल की बोली में भी कहाँ माँ
ईश्वर होंगे इस जहाँ में कहीं
पर मेरे लिए तो तुम ही ईश्वर
की मूरत हो माँ।
मेरी नजरो से देखो तुम
कितनी खूबसूरत हो माँ।

चाँद बिना चकोर नहीं माँ
जल बिना नही मीन
धनुष नहीं बिन तीर के
उसी तरह तेरे बिना मेरा
कोई अस्तित्व नही माँ
जीने के लिए धड़कन की
जैसे जरूरत पड़ती माँ
उसी तरह हर बच्चे के लिए
तेरी जरूरत है माँ
मेरी नजरो से देखो तुम
कितनी खूबसूरत हो माँ।

मेरे लिए जाड़े की तुम
गर्म धूप हो माँ
मेरे लिए तुम गर्मी की
शीतल छाया हो माँ
प्यार जिसके रग रग में
बसा हो
मेरे लिए तुम वह निर्मल
काया हो माँ
अपने बच्चे को हर विपदा
से बचाएँ
तुम वह साया हो माँ
मेरी नजरो से देखो तुम
कितनी खूबसूरत हो माँ।

लोग क्या समझते है तुझे
मुझे पता नही है माँ
मेरी नजरो से देखो तुम
इस दुनियाँ की सबसे
खूबसूरत मूरत हो माँ
तेरे रूप अनुपम ऐसा
जिसके वर्णन के लिए
हर शब्द छोटा पड़ जाए
ईश्वर जैसे शिल्पकार की
तराशी हुई
सबसे सुन्दर मूरत हो माँ
मेरी नजरो से देखो तुम
कितनी खूबसूरत हो माँ।

~अनामिका

4 Likes · 8 Comments · 100 Views
You may also like:
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
यूं तो लगाए रहता है हर आदमी छाता।
सत्य कुमार प्रेमी
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
चाह इंसानों की
AMRESH KUMAR VERMA
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
फिर कभी तुम्हें मैं चाहकर देखूंगा.............
Nasib Sabharwal
दिलों से नफ़रतें सारी
Dr fauzia Naseem shad
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
तिलका छंद "युद्ध"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
यह जिन्दगी
Anamika Singh
** बेटी की बिदाई का दर्द **
Dr.Alpa Amin
तेरा ख्याल।
Taj Mohammad
** मेरे खुदा **
Swami Ganganiya
किया है तुम्हें कितना याद ?
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
" हसीन जुल्फें "
DESH RAJ
अमर कोंच-इतिहास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
शहीदों के नाम
Sahil
दर्द इतने बुरे नहीं होते
Dr fauzia Naseem shad
ताला-चाबी
Buddha Prakash
यही है मेरा ख्वाब मेरी मंजिल
gurudeenverma198
हम भारतीय हैं..।
Buddha Prakash
मुझे धोखेबाज न बनाना।
Anamika Singh
मिलन
Anamika Singh
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
💐संसारे कः अपि स्व न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
धुआं उठा है कही,लगी है आग तो कही
Ram Krishan Rastogi
*मौसम प्यारा लगे (वर्षा गीत )*
Ravi Prakash
*सोमनाथ मंदिर 【भक्ति-गीत】*
Ravi Prakash
Loading...