Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 20, 2022 · 1 min read

# महकता बदन #

डॉ अरुण कुमार शास्त्री – एक अबोध बालक – अरुण अतृप्त

# महकता बदन #

गुलाब देकर वो चली गई
सालों पहले
और मैं सालों तक गुलाब सा
महकता रहा
एक अजीब सी बायोपिक
मेरे जेहन में घंटियाँ
बजाती रही
और मैं गुलाबी आनन्द की
ओस में ता उम्र
भीग भीग मगन होता रहा
जिंदगी का फलसफा
समझने की उम्र जब आई
वक्त रेत की मानिंद
फिसलता गया
मिरे होश गुम सुम
ना कदर जवानी की
बदलते मौसम सा
इजलास भी बदलता गया
तारीख़ के बदलने के साथ साथ
बदन मेरा उस गुलाब की
खुशबु भी खोता गया
गुलाब देकर वो चली गई
सालों पहले
और मैं सालों तक गुलाब सा
महकता रहा
एक अजीब सी बायोपिक
मेरे जेहन में घंटियाँ
बजाती रही
और मैं गुलाबी आनन्द की
ओस में ता उम्र
भीग भीग मगन होता रहा

77 Views
You may also like:
कविता : 15 अगस्त
Prabhat Pandey
जूते जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Manisha Manjari
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
की बात
AJAY PRASAD
आंधी में दीया
Shekhar Chandra Mitra
I know you are not real, just my hallucination.
Manisha Manjari
कशमकश
Anamika Singh
उफ्फ! ये गर्मी मार ही डालेगी
Deepak Kohli
घड़ी
Utsav Kumar Aarya
यह तो वक़्त ही बतायेगा
gurudeenverma198
बदनाम होकर।
Taj Mohammad
इश्क़ में ज़िंदगी नहीं मिलती
Dr fauzia Naseem shad
दिल के जख्म कैसे दिखाए आपको
Ram Krishan Rastogi
जीवन और दर्द
Anamika Singh
रंगमंच है ये जगत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दर्द पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
लगा हूँ...
Sandeep Albela
ये चिड़िया
Anamika Singh
मोहब्बत।
Taj Mohammad
सवालों के घेरे में देश का भविष्य
Dr fauzia Naseem shad
✍️✍️उलझन✍️✍️
'अशांत' शेखर
गजलकार रघुनंदन किशोर "शौक" साहब का स्मरण
Ravi Prakash
*तिरंगा प्यारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
कितनी इस दर्द ने
Dr fauzia Naseem shad
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Father's Compassion
Buddha Prakash
गिरते-गिरते - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
लाख मिन्नते मांगी ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
Loading...