Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Aug 24, 2016 · 1 min read

मशगूल युवा

मशगूल युवा

आज का युवा कितना मगरूर दिख रहा है

न जाने किस मद मे चूर दिख रहा है

मेहनत की जगह जुगाड खोजता है

तरक्की के लिए प्रगाड खोजता है

ब्रॉडेड पहन कर शालीन बन रहा है

बुजुर्गो की सम्पत्ती से कुलीन बन रहा है

पब और जश्न मे मंजिल ढूंढ रहा है

रिश्तो की तौहीन कर रहा है

विदेशी संस्कारो की तालीम ले रहा है

बस यू ही मशगूल दिख रहा है

न जाने किस मद मे चूर दिख रहा है
नीरा रानी …

172 Views
You may also like:
क्या लगा आपको आप छोड़कर जाओगे,
Vaishnavi Gupta
पिता
Meenakshi Nagar
पवनपुत्र, हे ! अंजनि नंदन ....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
धन्य है पिता
Anil Kumar
टेढ़ी-मेढ़ी जलेबी
Buddha Prakash
पिता
Buddha Prakash
पिता
Dr. Kishan Karigar
✍️ईश्वर का साथ ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता
Keshi Gupta
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
नए-नए हैं गाँधी / (श्रद्धांजलि नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
ठोडे का खेल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Deepali Kalra
हम भूल तो नहीं सकते
Dr fauzia Naseem shad
हमें क़िस्मत ने आज़माया है ।
Dr fauzia Naseem shad
याद पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
सच और झूठ
श्री रमण 'श्रीपद्'
काफ़िर का ईमाँ
DEVSHREE PAREEK 'ARPITA'
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
ग़ज़ल- मज़दूर
आकाश महेशपुरी
फूल और कली के बीच का संवाद (हास्य व्यंग्य)
Anamika Singh
मेरी अभिलाषा
Anamika Singh
पढ़वा लो या लिखवा लो (शिक्षक की पीड़ा का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
"हैप्पी बर्थडे हिन्दी"
पंकज कुमार कर्ण
Loading...