Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-156💐

मयस्सर नहीं है इक मुलाक़ात की बात,
कब ख़त्म करेंगे वो यह इन्तजार की रात।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
95 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
//एहसास//
//एहसास//
AVINASH (Avi...) MEHRA
"दीपावाली का फटाका" कहानी लेखक: राधाकिसन मूंदड़ा, सूरत, गुजरात।
Radhakishan Mundhra
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
Ranjana Verma
* पानी केरा बुदबुदा *
* पानी केरा बुदबुदा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Life is a rain
Life is a rain
Ankita Patel
💐प्रेम कौतुक-329💐
💐प्रेम कौतुक-329💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अजब-गजब इन्सान...
अजब-गजब इन्सान...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*होली*
*होली*
Shashi kala vyas
You are painter
You are painter
Vandana maurya
अटल-अवलोकन
अटल-अवलोकन
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
Anil chobisa
कल्पना एवं कल्पनाशीलता
कल्पना एवं कल्पनाशीलता
Shyam Sundar Subramanian
शायरी 2
शायरी 2
SURYAA
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
Anis Shah
चाहने वाले कम हो जाए तो चलेगा...।
चाहने वाले कम हो जाए तो चलेगा...।
Maier Rajesh Kumar Yadav
"हर रास्ते में फूलों से ना होगा सामना
कवि दीपक बवेजा
हे देश मेरे महबूब है तू,
हे देश मेरे महबूब है तू,
Satish Srijan
अपनों को थोड़ासा समझो तो है ये जिंदगी..
अपनों को थोड़ासा समझो तो है ये जिंदगी..
'अशांत' शेखर
विश्व गौरैया दिवस
विश्व गौरैया दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मुझको मेरा अगर पता मिलता
मुझको मेरा अगर पता मिलता
Dr fauzia Naseem shad
किसी के प्रति
किसी के प्रति "डाह"
*Author प्रणय प्रभात*
Dont loose your hope without doing nothing.
Dont loose your hope without doing nothing.
Sakshi Tripathi
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
सत्य कुमार प्रेमी
पेंशन प्रकरणों में देरी, लापरवाही, संवेदनशीलता नहीं रखने बाल
पेंशन प्रकरणों में देरी, लापरवाही, संवेदनशीलता नहीं रखने बाल
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*आपको सब ज्ञान है यह, आपका अभिमान है 【हिंदी गजल/गीतिका】*
*आपको सब ज्ञान है यह, आपका अभिमान है 【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
कैसे एक रिश्ता दरकने वाला था,
कैसे एक रिश्ता दरकने वाला था,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हिन्द के बेटे
हिन्द के बेटे
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
प्यार के सिलसिले
प्यार के सिलसिले
Basant Bhagwan Roy
मिमियाने की आवाज
मिमियाने की आवाज
Dr Nisha nandini Bhartiya
उफ़ वो उनकी कातिल भरी निगाहें,
उफ़ वो उनकी कातिल भरी निगाहें,
Vishal babu (vishu)
Loading...