Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मनुष्यस्य शरीर: तथा परमात्माप्राप्ति:

भगवतः श्वासेन वेदः प्रकट: भवति स्म-‘यस्य निश्वसितं वेदा:’।यदा श्वासस्य इयत् प्रभावः तु वाण्या: कियत् प्रभाव: भविष्यति।मनुष्यशरीर: केवलं परमात्माप्राप्तयाः कृते प्राप्त: भवति।नैव सांसारिक: कार्यानां(ण) कृते।परमात्माप्राप्तया: अवसरः मनुष्यशरीरैव।मनुष्यशरीरापि सत्संगस्य अवसरः दुर्लभ:।यथा मनुष्यशरीर: पुनः-पुनः न मिलति।एतादृशः सत्संगापि पुनः-पुनः न मिलति।एषः भगवतः विशेष: कृपया एव प्राप्त: भवति।ईश्वरं स्वं प्रति आकर्षयति।

©®अभिषेक:पाराशर

23 Views
You may also like:
दोस्ती का जो
Dr fauzia Naseem shad
'हाथी ' बच्चों का साथी
Buddha Prakash
दुआ पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
अपना दिल
Dr fauzia Naseem shad
दाने दाने पर नाम लिखा है
Ram Krishan Rastogi
टूटे बहुत है हम
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
बीवी हो तो ऐसी... !!
Rakesh Bahanwal
✍️पुरानी रसोई✍️
'अशांत' शेखर
शाम सुहानी सावन की
लक्ष्मी सिंह
✍️✍️रब्त✍️✍️
'अशांत' शेखर
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
✍️आज तारीख 7-7✍️
'अशांत' शेखर
मायके की धूप रे
Rashmi Sanjay
परिणय
मनोज कर्ण
✍️खुशी✍️
'अशांत' शेखर
हिंदी दोहा-टोपी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
दिल ने किया था
Dr fauzia Naseem shad
स्वेद का, हर कण बताता, है जगत ,आधार तुम से।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
गिरधर तुम आओ
शेख़ जाफ़र खान
पहले तेरे हाथों पर
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
यह तो वक़्त ही बतायेगा
gurudeenverma198
कई चेहरे होते है।
Taj Mohammad
✍️आसमाँ के परिंदे ✍️
Vaishnavi Gupta
रेत   का   घर 
Alok Saxena
Loading...