Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मझधार में कश्ती है ना ठोर ठिकाना है

ग़ज़ल/गीतिका
दिनांक ३/६/२१
*वाद्विभक्ती* 24 मात्रिक, मापनीयुक्त

२२१ १२२२/२२१ १२२२
मझधार में कश्ती है ना ठोर ठिकाना है।
मिलते थे मुहब्बत से गुज़रा वो ज़माना है।(१)

अब लोग लगे खुद में चिंता न पडौसी की,
ये जीस्त हुई तन्हा तन्हा ही बिताना है।(२)

हर शाम ये महफ़िल की कटती ही नहीं अब तो
मिलते ही नहीं अब वो ये झूठ बहाना है।(३)

(देखें कोरोना और चीन के परिप्रेक्ष्य में)

बरपी है ज़माने पर इक कीट की आफत अब
दुनिया ये गमी में है अब हमको हॅसाना है।(४)
(कीट- मतलब कोरोना)

वो घात में हैं अब भी दुनिया को मिटाने की
सबका है खुदा मालिक दुनिया को चलाना है।(५)

वो लाख करे कोशिश दुनिया को दबाने की,
अल्लाह हों मेहरबां तो क्या ख़ाक दबाना है।(६)

दुनिया में विविधता है वो दक्ष मदारी है,
दुनिया ये अटल तेरी नायाब खजाना है।(७)

? अटल मुरादाबादी ?

2 Likes · 1 Comment · 312 Views
You may also like:
पिता हिमालय है
जगदीश शर्मा सहज
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
किसी दिन
shabina. Naaz
हर दिल तिरंगा लाते हैं, हर घर तिरंगा लाते हैं
Seema 'Tu haina'
तुम पतझड़ सावन पिया,
लक्ष्मी सिंह
जिन्दगी का नया अंदाज
Anamika Singh
✍️शाम की तन्हाई✍️
'अशांत' शेखर
मैंने उस पल को
Dr fauzia Naseem shad
कुछ तुम बदलो, कुछ हम बदलें।
निकेश कुमार ठाकुर
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बे'एतबार से मौसम की
Dr fauzia Naseem shad
प्रकृति के साथ जीना सीख लिया
Manoj Tanan
✍️यही तो आखिर सच है...!✍️
'अशांत' शेखर
✍️"बारिश भी अक्सर भुख छीन लेती है"✍️
'अशांत' शेखर
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
गर जा रहे तो जाकर इक बार देख लेना।
सत्य कुमार प्रेमी
नहीं हंसी का खेल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सार संभार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जश्ने-आज़ादी की इस तरह से
Dr fauzia Naseem shad
क्या क्या कह दिया मैंने
gurudeenverma198
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
नई जिंदगानी
AMRESH KUMAR VERMA
पानी का दर्द
Anamika Singh
मां बाप की दुआओं का असर
Ram Krishan Rastogi
कवि
Vijaykumar Gundal
✍️शराफ़त✍️
'अशांत' शेखर
अपनी भाषा
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
✍️लोकशाही✍️
'अशांत' शेखर
मुजीब: नायक और खलनायक ?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...