Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2016 · 1 min read

मजहब हिन्दुस्तान

ना मैं सिख ना मैं ईसाई, ना ही हिंदू मुसलमान हूं मैं।
ना मैं बाइबल ना मैं ग्रंथ, ना ही गीता कुरान हूँ मैं।
शर्म करो मजहब पर लडने वालों, इंसानियत ही है धर्म मेरा।
ना झोंको मुझे इस आग में, तुम सबका हिंदुस्तान हूँ मैं।

Language: Hindi
Tag: कविता
485 Views
You may also like:
आंखों की लाली
शिव प्रताप लोधी
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
प्रेम
श्याम सिंह बिष्ट
" नोट "
Dr Meenu Poonia
एहसास में बे'एहसास की
Dr fauzia Naseem shad
✴️✳️⚜️वो पगड़ी सजाए हुए हैं⚜️✳️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*जगत का अद्भुत मधुर विधान है 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
व्यावहारिक सत्य
Shyam Sundar Subramanian
क्षमा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पढ़ी लिखी लड़की
Swami Ganganiya
सपनों की तुम बात करो
कवि दीपक बवेजा
आत्मनिर्भरता का फार्मूला
Shekhar Chandra Mitra
ये दिल है जो तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
मारुति वंदन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
रंग-ए-बाज़ार कर लिया खुद को
Ashok Ashq
परिस्थिति
AMRESH KUMAR VERMA
Salam shahe_karbala ki shan me
shabina. Naaz
दुआ
Alok Saxena
शम्मा ए इश्क।
Taj Mohammad
JHIJHIYA DANCE IS A FOLK DANCE OF YADAV COMMUNITY
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
जिंदगी का आखिरी सफर
ओनिका सेतिया 'अनु '
दिया
Anamika Singh
✍️✍️उलझन✍️✍️
'अशांत' शेखर
एहसास
Er.Navaneet R Shandily
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दीपोत्सव की शुभकामनाएं
Saraswati Bajpai
Loading...