Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मंदिर

सुबह शाम मंदिर चले, लेने प्रभु का नाम।
जीवन होगा धन्य है, बन जायेंगे काम।।

थोड़ा – थोड़ा समय दे, करें ईश गुणगान।
मन की पीड़ा सब मिटे, बनी रहे मुस्कान।।

जब मंदिर में सिर झुके, मिटे सारे विकार।
खुले हृदय के बंद पट, सुखद लगे संसार।।

प्रभु के नित्य दर्शन से, मिले शांति अपार।
ज्ञान ध्यान के योग से, खुले धर्म के द्वार।।

जगत चले है धर्म से, बसे धर्म में देव।
सत्य धर्म के पक्ष में , रहती विजय सदैव।।

1 Like · 80 Views
You may also like:
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
पसीना।
Taj Mohammad
*जिनको डायबिटीज (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
✍️चेहरा-ए-नक़्श✍️
'अशांत' शेखर
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
अपनी भाषा
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
पावस
लक्ष्मी सिंह
* तेरी चाहत बन जाऊंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
आज मस्ती से जीने दो
Anamika Singh
नीली साइकिल वाली लड़की
rkchaudhary2012
शून्य से अनन्त
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
हे शिव ! सृष्टि भरो शिवता से
Saraswati Bajpai
जिंदगी का राज
Anamika Singh
देव शयनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दीये की बाती
सूर्यकांत द्विवेदी
✍️ये आज़माईश कैसी?✍️
'अशांत' शेखर
हमने वफ़ा निभाई है।
Taj Mohammad
बेरोजगारी जवान के लिए।
Taj Mohammad
✍️✍️व्यवस्था✍️✍️
'अशांत' शेखर
मेरी आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
The moon descended into the lake.
Manisha Manjari
“NEW ABORTION LAW IN AMERICA SNATCHES THE RIGHT OF WOMEN”
DrLakshman Jha Parimal
अमृत महोत्सव
विजय कुमार अग्रवाल
जिन्दगी से शिकायत न रही
Anamika Singh
बाज़ी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ब्राउनी (पिटबुल डॉग) की पीड़ा
ओनिका सेतिया 'अनु '
कभी मेहरबां।
Taj Mohammad
ज़िंदा हूं मरा नहीं हूं।
Taj Mohammad
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...