Jan 17, 2022 · 1 min read

मंंडल बनाम कमंडल

सत्ता के लिए
देश को
दांव पर लगा दिया!
लोकतांत्रिक
मूल्यों को
सूली पर चढ़ा दिया!!
सरकार को
घेरने और
जनता को जगाने का!
जो भी मौका
मिला उसे
विपक्ष ने गंवा दिया!!
Shekhar Chandra Mitra
#राजनीतिककविता #मंडलकमीशन
#DalitLivesMatter #चुनाव

86 Views
You may also like:
अहसासों से भर जाता हूं।
Taj Mohammad
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
निगाह-ए-यास कि तन्हाइयाँ लिए चलिए
शिवांश सिंघानिया
पवनपुत्र, हे ! अंजनि नंदन ....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बिछड़न [भाग१]
Anamika Singh
श्रमिक
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
ज़िन्दगी के किस्से.....
Chandra Prakash Patel
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हर रोज योग करो
Krishan Singh
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भारतवर्ष
AMRESH KUMAR VERMA
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
कारस्तानी
Alok Saxena
गोरे मुखड़े पर काला चश्मा (व्यंग्य)
श्री रमण
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
नव सूर्योदय
AMRESH KUMAR VERMA
गाँव री सौरभ
हरीश सुवासिया
जेब में सरकार लिए फिरते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
"ममता" (तीन कुण्डलिया छन्द)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
🙏विजयादशमी🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math
बेजुबान
Anamika Singh
मेरे पापा
Anamika Singh
कुछ झूठ की दुकान लगाए बैठे है
Ram Krishan Rastogi
मां
Anjana Jain
इन्तज़ार का दर्द
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
-:फूल:-
VINOD KUMAR CHAUHAN
रिश्ते
Saraswati Bajpai
Loading...