Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 May 2022 · 1 min read

भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील

रहल चुनाव जब बार-बार मंचवा से,
दिहनी बचन ओ के जनि बिसराई दीं।

केतना करोड़ लोग रोज मनुहार करे,
काठ बा करेज का ई येतने बताई दीं?

भाषा मारिसस, सूरीनाम ले ई नाम करे,
हक महाराज ये के अब दिलवाई दीं।

आठवीं जवन अनुसूची संविधान के बा,
ओइमें ई नावँ भोजपुरी लिखवाई दीं।

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- 27/05/2022

6 Likes · 1 Comment · 393 Views
You may also like:
Green Trees
Buddha Prakash
ठनक रहे माथे गर्मीले / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सपनों में खोए अपने
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ख़्वाहिशें बे'लिबास थी
Dr fauzia Naseem shad
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
विन मानवीय मूल्यों के जीवन का क्या अर्थ है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता हैं धरती का भगवान।
Vindhya Prakash Mishra
रंग हरा सावन का
श्री रमण 'श्रीपद्'
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
If we could be together again...
Abhineet Mittal
जीवन की प्रक्रिया में
Dr fauzia Naseem shad
जब गुलशन ही नहीं है तो गुलाब किस काम का...
लवकुश यादव "अज़ल"
#पूज्य पिता जी
आर.एस. 'प्रीतम'
पिता का दर्द
Nitu Sah
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Satpallm1978 Chauhan
नदी को बहने दो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जैवविविधता नहीं मिटाओ, बन्धु अब तो होश में आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ज़िंदगी तुझसे
Dr fauzia Naseem shad
मैं कुछ कहना चाहता हूं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ग़ज़ल / (हिन्दी)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
माँ की याद
Meenakshi Nagar
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
Loading...