Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 31, 2021 · 1 min read

भाव – श्रृंखला

समुद्र से विशाल अंतर्मन निहित गतिशील भावनाओं की तरंगें ,
कभी अभिनव कल्पनाओं विभोर उमंगें ,
कभी नियति प्रभावित संतप्त मनोभाव ,
कभी परिस्थितिजन्य असहाय भाव ,
कभी अंतरतम मनोबल क्षीणता भाव ,
कभी आत्मविश्वास , धैर्य संकल्पित भाव ,
कभी गंभीर विषयवस्तु चिंतन भाव ,
कभी भविष्य योजना निर्माण भाव ,
कभी हानि- लाभ विश्लेषण भाव ,
कभी नूतन आयाम सृजन भाव ,
कभी ज्ञान अर्जन जिज्ञासा भाव ,
कभी नवोन्मेष अनुसंधान भाव ,
कभी अंतर्निहित मर्म अन्वेषण भाव ,
कभी वस्तुस्थिति आकलन भाव ,
कभी अन्याय विरुद्ध संघर्ष भाव ,
कभी व्यवहार जनित क्षुब्ध भाव ,
कभी आक्रोश आंदोलित भाव ,
कभी समस्या निराकरण चिंतन भाव ,
भाव- श्रृंखला की लहरें अविरल बहती रहतीं है ,
प्रज्ञा रूपी नैया मन मस्तिष्क सागर में डोलती रहती है ,

2 Likes · 4 Comments · 155 Views
You may also like:
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
दिल्ली की कहानी मेरी जुबानी [हास्य व्यंग्य! ]
Anamika Singh
बदनाम होकर।
Taj Mohammad
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
मेरी हर सांस में
Dr fauzia Naseem shad
दिल से मदद
Dr fauzia Naseem shad
सजल : तिरंगा भारत का
Sushila Joshi
कुछ ऐसे बिखरना चाहती हूँ।
Saraswati Bajpai
💐तत्वप्राप्ति: तथा मनुष्यस्य शरीर:💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरी सुंदरता पर कोई कविता लिखते हैं।
Taj Mohammad
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
'कई बार प्रेम क्यों ?'
Godambari Negi
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग८]
Anamika Singh
पत्थर दिल
Seema Tuhaina
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
"कुछ तुम बदलो कुछ हम बदलें"
Ajit Kumar "Karn"
चाहत की बाते
Dr. Sunita Singh
💐💐वासुदेव: सर्वम्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भावना
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इश्क की आग।
Taj Mohammad
ये मोहब्बत राज ना रहती है।
Taj Mohammad
"मौन "
DrLakshman Jha Parimal
हर रास्ते की अपनी इक मंजिल होती है।
Taj Mohammad
गरीब लड़की का बाप है।
Taj Mohammad
नैय्या की पतवार
DESH RAJ
आया रक्षाबंधन का त्योहार
Anamika Singh
राम घोष गूंजें नभ में
शेख़ जाफ़र खान
✍️वो भूल गये है...!!✍️
'अशांत' शेखर
कभी जमीं कभी आसमां बन जाता है।
Taj Mohammad
Loading...