Sep 13, 2016 · 1 min read

भाव भंगिमा

मूक हूँ मैं, मौन हूँ मैं,
मुझको तू जुबान दे,,,
देखकर बस भाव भंगिमा,
मुझमें तू जाँ डाल दे,,,
दे नये आयाम इस चित्र को तू,
मूक सी इस छवि को दास्तान दे “”
दिखाकर मुझे दरपन लफ्जों का,
मुझको ही मेरी पहचान दे “”,,,
चाहूँ बस कुछ तवज्जो तेरी,,
ना तू मुझे पूरा जमीं आसमान दे,,,,,
बस थम जा कुछ देर
यही,अरमानों को मेरे इक नया जहान दे
उकेर कर इबारत पत्थर पर,
शब्दों से कुछ निशान दे,,,
बेजान सी पङी लाश को,
जिंदगी जीने का सामान दे,,,,
बन ना जाये स्याही जीवन की
इसको नूतन नाम दे
अनवरत जारी है कविता
रोककर तू विराम दे

नूतन

338 Views
You may also like:
रे बाबा कितना मुश्किल है गाड़ी चलाना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
🍀🌺प्रेम की राह पर-44🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
💐💐तुमसे दिल लगाना रास आ गया है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
हमारी प्यारी मां
Shriyansh Gupta
नई लीक....
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
तुम मेरे वो तुम हो...
Sapna K S
हे परम पिता परमेश्वर, जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खिले रहने का ही संदेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सालो लग जाती है रूठे को मानने में
Anuj yadav
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ऐ जिन्दगी
Anamika Singh
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam मन
An abeyance
Aditya Prakash
तुम्हारे जन्मदिन पर
अंजनीत निज्जर
खस्सीक दाम दस लाख
Ranjit Jha
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
** तक़दीर की रेखाएँ **
Dr. Alpa H.
आपकी तरहां मैं भी
gurudeenverma198
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
'विनाश' के बाद 'समझौता'... क्या फायदा..?
Dr. Alpa H.
तुम...
Sapna K S
🌺🌺प्रेम की राह पर-9🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उड़ी पतंग
Buddha Prakash
Loading...