Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 25, 2022 · 1 min read

भारत बनाम (VS) पाकिस्तान

धरा पर वास करने वाले
जरा जरा पास आकर सच के साथ देखें।
बरसों से तुमने खोया ही हैं।
पाया हैं क्या माँ को बांटकर ।
क्षेत्र बाँटते परिक्षेत्र बाँटते , जिससे विकास होता।
दिल से दिमाग तक बांट डाले ईमान।
पाया हैं क्या माँ को बाँट कर।
बांटकर क्या कभी सुखी होता है कोई ।
बता नादान हो ना तुम ॥
मेरे स्वदेश है, मेरे स्वदेश अच्छे हैं।
अच्छी भली चंगी नारा है।
जो जान से भी प्यारा है।
लेकिन क्या मां (एहसास जुड़ने )से भी प्यारा है।
किसी घर के लिए मां का बंटवारा अच्छी दंश नहीं है।
बताओ प्यारें
क्या तुम्हें चैन मिलती है vs क्या तुम बेचैन नहीं हो।
किसने ना तुम्हें ठगा होगा ।और तुम किससे ना ठगाते हो।
तब जाकर नारा लगाते हों।
बस धरती झेल रही है,
विध्वंसक मार ,वार झेल रही है।
खाड़ी युद्धों की मार ,वार मानवता ही नहीं धरा भी झेल रही हैैं।
कायरों, काफिरों की हैं ये युद्ध करने वाले संताने।

धरा पर वास करने वाले……………….
_ डॉ. सीमा कुमारी ,बिहार ,भागलपुर, दिनांक25-6-022की मौलिक एवं स्वरचित रचना जिसे आज प्रकाशित कर रही हूं।

2 Likes · 84 Views
You may also like:
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Manisha Manjari
मुझको मत दोष तुम देना
gurudeenverma198
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
तेरी याद में
DR ARUN KUMAR SHASTRI
एक पैगाम मित्रों के नाम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मज़ाक।
Taj Mohammad
جانے کہاں وہ دن گئے فصل بہار کے
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
व्यक्तिवाद की अजीब बीमारी...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
इश्क में तुम्हारे गिरफ्तार हो गए।
Taj Mohammad
दर्द पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*प्रेमचंद (पॉंच दोहे)*
Ravi Prakash
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
करता है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
“माँ भारती” के सच्चे सपूत
DESH RAJ
अब तेरा इंतज़ार न रहा
Anamika Singh
गीत//तुमने मिलना देखा, हमने मिलकर फिर खो जाना देखा।
Shiva Awasthi
यह जिन्दगी क्या चाहती है
Anamika Singh
HAPPY BIRTHDAY SHIVANS
KAMAL THAKUR
बताओ मुझे
Anamika Singh
*पद्म विभूषण स्वर्गीय गुलाम मुस्तफा खान साहब से दो मुलाकातें*
Ravi Prakash
सिंधु का विस्तार देखो
surenderpal vaidya
दो शरारती गुड़िया
Prabhudayal Raniwal
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
सरस्वती कविता
Ankit Halke jha Official's
पाकीज़ा इश्क़
VINOD KUMAR CHAUHAN
बारहमासी समस्या
Aditya Prakash
ख्वाहिश
Anamika Singh
मत ज़हर हबा में घोल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
" समुद्री बादल "
Dr Meenu Poonia
Loading...