Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Nov 2022 · 1 min read

भारत का संविधान

भारत देश की जान है, भारत का संविधान।
भारत की पहचान है, भारत का संविधान।

समता बंधुत्व समानता, का यह संगम है,
शोषित की मुस्कान है, भारत का संविधान।

सबको न्याय मिलेगा, गर इसका पालन हो,
पूरे भारत की शान है, भारत का संविधान।

सब धर्मों का सम्मान, लिखा है इसके अंदर,
सब का स्वाभिमान है, भारत का संविधान।

एकता और अखंडता, को आंच न आ पाए,
भारत का अभिमान है, भारत का संविधान।

लिखा भीमराव ने, मान जिसे रहा सारा देश,
सर्वजनों का सम्मान है, भारत का संविधान।

कठोर और लचीला, दुनिया से बड़ा है ये,
सबसे हटकर पहचान है, भारत का संविधान।
– रमाकांत चौधरी एडवोकेट
उत्तर प्रदेश।
(यह रचना स्वलिखित, मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है)

3 Likes · 1 Comment · 74 Views
You may also like:
नफरत है मुझे
shabina. Naaz
महाकवि
Shekhar Chandra Mitra
🙏माता ब्रह्मचारिणी🙏
पंकज कुमार कर्ण
ऐतबार ।
Anil Mishra Prahari
दिल हमारा।
Taj Mohammad
मै लाल किले से तिरंगा बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
बजट का समायोजन (एक व्यंग)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सकठ गणेश चतुर्थी
Satish Srijan
*इसे त्यौहार कहते हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मेरे अल्फाज़...
Dhani
मर्द को दर्द नहीं होता है
Shyam Sundar Subramanian
कमजोरी अपनी यहाँ किसी को
gurudeenverma198
मुक्तक: युद्ध को विराम दो.!
Prabhudayal Raniwal
✍️हे बेबी!गंगा में नाव पर बैठकर,जप ले नमः शिवाय✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हरयाणा ( हरियाणा दिवस पर विशेष)
Varun Singh Gautam
अविश्वास
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
■ आलेख / दारुण विडम्बना
*Author प्रणय प्रभात*
यादें
Anamika Singh
हर हाल में ख़ुदी को
Dr fauzia Naseem shad
# मेरे जवान ......
Chinta netam " मन "
बरखा रानी तू कयामत है ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
महिला दिवस दोहा नवमी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
राष्ट्रभाषा
Prakash Chandra
अश्रुपात्र A glass of tears भाग 10
Dr. Meenakshi Sharma
उजालों के घर
सूर्यकांत द्विवेदी
✍️वक़्त और रास्ते✍️
'अशांत' शेखर
सेमल
लक्ष्मी सिंह
मोहन
मोहन
भारत और मीडिया
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नारी सृष्टि निर्माता के रूप में
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
Loading...