Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author
Jun 18, 2022 · 1 min read

भगवान की तलाश में इंसान

ढूंढ रहा है जंगल जंगल,मृग अपनी कस्तूरी को।
देख पाया न अपनी नाभि,छिपी हुई कस्तूरी को।।

ढूंढ रहा है मंदिर मंदिर,भक्त अपने भगवान को।
मिल न पाया भगवान उसे इस भोले इंसान को।।

बढ़ चुका है विज्ञान काफी,पाया न भगवान को।
सारी सृष्टि में समाया ,फिर भी ढूंढे भगवान को।।

खुद से दूर चला गया इंसान,क्या ढूंढेगा भगवान को।
पहले खुद को तुम ढूंढो,फिर ढूंढना उस भगवान को।।

हर जगह ढूंढ लिया उसे,कही मिला न भगवान है।
मत ढूंढ बंदे तू उसे वह तो कण कण में विद्यमान है।।

न रखा कुछ तीर्थो में,न रखा कुछ चारो धामों में।
कर्म की पूजा करता रह,व्यस्त रख सुकामों में।।

भीतर शून्य है बाहर शून्य है शून्य चारो और है।
मुझ में नही तुझ में नही,फिर भी मैं का शोर है।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

3 Likes · 10 Comments · 128 Views
You may also like:
रामलीला
VINOD KUMAR CHAUHAN
गुरुर
Annu Gurjar
सावन में एक नारी की अभिलाषा
Ram Krishan Rastogi
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
लिपट कर तिरंगे में आऊं
AADYA PRODUCTION
पत्र का पत्रनामा
Manu Vashistha
वक्त की चौसर
Saraswati Bajpai
*देखने लायक नैनीताल (गीत)*
Ravi Prakash
ये खुशी
Anamika Singh
कोई कासिद।
Taj Mohammad
जाऊं कहां मैं।
Taj Mohammad
🌺परमात्प्राप्ति: स्वतः सिद्ध:,,✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
अपनी ख़्वाहिशों को
Dr fauzia Naseem shad
ये दिल धड़कता नही अब तुम्हारे बिना
Ram Krishan Rastogi
ज़ुबान से फिर गया नज़र के सामने
कुमार अविनाश केसर
हर लम्हा।
Taj Mohammad
आ तुझको तुझ से चुरा लू
Ram Krishan Rastogi
दोस्त हो जो मेरे पास आओ कभी।
सत्य कुमार प्रेमी
प्रेम पर्दे के जाने """"""""""""""""""""""'''"""""""""""""""""""""""""""""""""
Varun Singh Gautam
मृत्युलोक में मोक्ष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जय हिन्द , वन्दे मातरम्
Shivkumar Bilagrami
"दोस्त-दोस्ती और पल"
Lohit Tamta
गिरते-गिरते - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
मुझमें भारत तुझमें भारत
Rj Anand Prajapati
Loading...