Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#12 Trending Author
May 5, 2022 · 1 min read

बे-पर्दे का हुस्न।

औरत तब तक औरत रहती है।
जब तक उस में गैरत बसती है।।

बे-पर्दे का हुस्न नंगापन होता है।
आंचल में इसे इज्जत मिलती है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍बेज

2 Likes · 2 Comments · 75 Views
You may also like:
दिल के जख्म कैसे दिखाए आपको
Ram Krishan Rastogi
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
गर हमको पता होता।
Taj Mohammad
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
दिये मुहब्बत के...
अरशद रसूल /Arshad Rasool
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
"अशांत" शेखर
दुनिया पहचाने हमें जाने के बाद...
Dr. Alpa H. Amin
आदमी आदमी से डरने लगा है
VINOD KUMAR CHAUHAN
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
माँ दुर्गे!
Anamika Singh
उसने ऐसा क्यों किया
Anamika Singh
प्रेम
Dr.sima
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
गधा
Buddha Prakash
प्रकृति का अंदाज.....
Dr. Alpa H. Amin
✍️तलाश ज़ारी रखनी चाहिए✍️
"अशांत" शेखर
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
" अपनी ढपली अपना राग "
Dr Meenu Poonia
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरे पापा!
Anamika Singh
=*बुराई का अन्त*=
Prabhudayal Raniwal
ऐसा मैं सोचता हूँ
gurudeenverma198
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*सारथी बनकर केशव आओ (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
ऐसे तो ना मोहब्बत की जाती है।
Taj Mohammad
Loading...