Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

बेटी (शायरी)

देवालय में बजते शंख की ध्वनि है बेटी,
देवताओं के हवन यज्ञ की अग्नि है बेटी।
खुशनसीब हैं वो जिनके आँगन में है बेटी,
जग की तमाम खुशियों की जननी है बेटी।।

********************************************

बड़े नसीब वालों के घर जन्म लेती है बेटी,
घर आँगन को खुशियों से भर देती है बेटी।
बस थोड़ा सा प्यार और दुलार चाहिए इसे,
थोड़ी संभाल में लहलहाए वो खेती है बेटी।।

*********************************************

फूलों सी कोमल हृदय वाली होती हैं बेटियाँ,
माँ बाप की एक आह पर ही रोती हैं बेटियाँ।
भाई के प्रेम में खुद को भुला देती हैं अक्सर,
फिर भी आज गर्भ में जान खोती हैं बेटियाँ।।

©® डॉ सुलक्षणा अहलावत

5 Likes · 13 Comments · 48666 Views
You may also like:
ग़रीब की दिवाली!
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेरी उम्मीद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गीत
शेख़ जाफ़र खान
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"अष्टांग योग"
पंकज कुमार कर्ण
इसलिए याद भी नहीं करते
Dr fauzia Naseem shad
"फिर से चिपको"
पंकज कुमार कर्ण
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
मिसाले हुस्न का
Dr fauzia Naseem shad
दो जून की रोटी
Ram Krishan Rastogi
अनमोल जीवन
आकाश महेशपुरी
पापा क्यूँ कर दिया पराया??
Sweety Singhal
''प्रकृति का गुस्सा कोरोना''
Dr Meenu Poonia
बेरोज़गारों का कब आएगा वसंत
Anamika Singh
एक कतरा मोहब्बत
श्री रमण 'श्रीपद्'
अपनी आदत में
Dr fauzia Naseem shad
पल
sangeeta beniwal
तप रहे हैं दिन घनेरे / (तपन का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन की दुर्दशा
Dr fauzia Naseem shad
✍️गलतफहमियां ✍️
Vaishnavi Gupta
पापा करते हो प्यार इतना ।
Buddha Prakash
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
कहीं पे तो होगा नियंत्रण !
Ajit Kumar "Karn"
पितु संग बचपन
मनोज कर्ण
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
मां की ममता
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
Loading...