Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

— बेटी जैसी रौनक कहाँ —

घर के आँगन में अगर
बेटी नजर न आये तो
घर में रौनक कभी
नजर नही आती है

बेशक कुछ देर इधर उधर हो
तो थोडा सा सहा भी जाता है
वो कई दिन नजर ना आये तो
वो सहा ही नही जाता है

चिडिया की जैसी चू चू करती
उस की बातें प्यारी लगती हैं
घर आँगन में चलती फिरती
सब से न्यारी वो लगी है

पल में रूठना, पल में मान जाना
कभी जिद भी नही करती हैं
कितनी प्यारी होती हैं बेटियाँ
ये सब के दिलों में बसा जो करती हैं !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

2 Likes · 1 Comment · 210 Views
You may also like:
** The Highway road **
Buddha Prakash
जिन्दगी को ख़राब कर रहे हैं।
Taj Mohammad
नया चिकित्सक
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
" IDENTITY "
DrLakshman Jha Parimal
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अब तो इतवार भी
Krishan Singh
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
मैं बहती गंगा बन जाऊंगी।
Taj Mohammad
'तुम्हारे बिना'
Rashmi Sanjay
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
मुस्कुराहट का नाम है जिन्दगी
Anamika Singh
दर्पण!
सेजल गोस्वामी
चंदा मामा
Dr. Kishan Karigar
नीति के दोहे 2
Rakesh Pathak Kathara
कमी मेरी तेरे दिल को
Dr fauzia Naseem shad
पिता
dks.lhp
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
बहुत हुशियार हो गए है लोग
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
साँझ
Alok Saxena
✍️'गंगा बहती है'✍️
"अशांत" शेखर
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
किस राह के हो अनुरागी
AJAY AMITABH SUMAN
यह जिन्दगी क्या चाहती है
Anamika Singh
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आयेगी
Ram Krishan Rastogi
✍️मेरी जान मुंबई है✍️
"अशांत" शेखर
आँखें भी बोलती हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
छाँव पिता की
Shyam Tiwari
ज़ालिम दुनियां में।
Taj Mohammad
मंज़िल
Ray's Gupta
अपनी ख़्वाहिशों को
Dr fauzia Naseem shad
Loading...