Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#15 Trending Author

बुद्ध भगवान की शिक्षाएं

त्यागो तम अज्ञान, ज्ञान की ज्योति जलाओ
त्याग असीमित कामनाएं, शुद्ध बुद्ध हो जाओ
त्यागो हिंसा द़ेष अहं, सुख शांति के सुमन खिलाओ
मानवता के लिए समर्पित, गीत प्रेम के गाओ
दुख ही दुख है वासनाओं में, संसार दुखों का घर है
कर तृष्णा का त्याग, आत्मा अजर अमर है
पा ले पद निर्वाण, पवित्र ज्ञान अंतर्मन है
अष्टांग मार्ग सद ज्ञान, शुद्ध बुद्ध दर्शन है
आओ शुद्ध संकल्प करें, अंतर्मन ज्ञान जगाओ
आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ, आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ
शुद्ध कर्म शुद्ध आचरण, शुद्ध ज्ञान जागरण
आओ शुद्ध संकल्प करें, विकारों का करें मार्जन
शुद्ध बार्ता शुद्ध प्रयत्न, मार्ग शुद्धि के सारे यत्न
शुद्ध स्मृति शुद्ध समाधि,हर लेगी सब आधि व्याधि
अष्टांग मार्ग है,सहज समाधि
आओ पवित्र जीवन अपनाओ,आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ
करो आत्म कल्याण, जीवन सफल बनाओ
प्रेम और करुणा बरसाओ,आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ
मानवता पोषित हो जग में,अंतस अपने बुद्ध जगाओ
आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ,आओ शुद्ध बुद्ध हो जाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

7 Likes · 10 Comments · 93 Views
You may also like:
शब्द नही है पिता जी की व्याख्या करने को।
Taj Mohammad
✍️दो और दो पाँच✍️
"अशांत" शेखर
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
मैं हूँ किसान।
Anamika Singh
लोकसभा की दर्शक-दीर्घा में एक दिन: 8 जुलाई 1977
Ravi Prakash
क्या अटल था?
Saraswati Bajpai
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️जीवन की ऊर्जा है पिता...!✍️
"अशांत" शेखर
जिन्दगी का जमूरा
Anamika Singh
“NEW ABORTION LAW IN AMERICA SNATCHES THE RIGHT OF WOMEN”
DrLakshman Jha Parimal
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
✍️बगावत थी उसकी✍️
"अशांत" शेखर
खुदा बना दे।
Taj Mohammad
दीपावली,प्यार का अमृत, प्यार से दिल में, प्यार के अंदर...
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
"भोर"
Ajit Kumar "Karn"
मां सरस्वती
AMRESH KUMAR VERMA
Time never returns
Buddha Prakash
भ्राजक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आशाओं के दीप.....
Chandra Prakash Patel
बहते अश्कों से पूंछो।
Taj Mohammad
.✍️वो पलाश के फूल...!✍️
"अशांत" शेखर
मां
Anjana Jain
मेरी खुशी तुमसे है
VINOD KUMAR CHAUHAN
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
गुरु तेग बहादुर जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हनुमान जयंती पर कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
हवाओं को क्या पता
Anuj yadav
सम्भव कैसे मेल सखी...?
पंकज परिंदा
कवि की नज़र से - पानी
बिमल
Loading...