Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 15, 2022 · 1 min read

*बुद्ध पूर्णिमा 【कुंडलिया】*

*बुद्ध पूर्णिमा 【कुंडलिया】*
■■■■■■■■■■■■■■■■■■
बतलाया यह बुद्ध ने , तृष्णा दुख का मूल
प्यासे को फिर-फिर मिला ,पुनर्जन्म का शूल
पुनर्जन्म का शूल , मार्ग सम्यक अपनाओ
वचन-कर्म से शुद्ध ,आत्म-दीपक बन जाओ
कहते रवि कविराय , पूर्ण वैशाख लुभाया
जन्म – मरण शुभ बोध ,बुद्ध ने सच बतलाया
—————————————————
रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

3 Likes · 1 Comment · 171 Views
You may also like:
"ईद"
Lohit Tamta
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
रिश्तो मे गलतफ़हमी
Anamika Singh
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
दर्द तक़सीम कर नहीं सकते
Dr fauzia Naseem shad
✍️✍️रंग✍️✍️
'अशांत' शेखर
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
मोहब्बत का गम है।
Taj Mohammad
शंकर छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
प्रेम
Rashmi Sanjay
प्रतीक्षा करना पड़ता।
Vijaykumar Gundal
मेघो से प्रार्थना
Ram Krishan Rastogi
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
✍️पत्थर-दिल✍️
'अशांत' शेखर
मै लाल किले से तिरंगा बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
दामन भी अपना
Dr fauzia Naseem shad
शहीद-ए-आजम भगतसिंह
Dalveer Singh
" पवित्र रिश्ता "
Dr Meenu Poonia
💐💐स्वरूपे कोलाहल: नैव💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पुस्तक समीक्षा
Ravi Prakash
प्रारब्ध प्रबल है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
प्रेम
श्याम सिंह बिष्ट
Ye Sochte Huye Chalna Pad Raha Hai Dagar Main
Muhammad Asif Ali
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अंदाज़ जुदा होता है।
Taj Mohammad
सुरत और सिरत
Anamika Singh
विधि के दो वरदान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
मुझको खुद मालूम नहीं
gurudeenverma198
Loading...