Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-40💐

बुझ गये हैं दिये,कौन रोशन करेगा,
अँधेरे उनके हिस्से के हैं,इन्कार कौन करेगा।।
-अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
86 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
गुरुकुल शिक्षा
गुरुकुल शिक्षा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
ruby kumari
यूं ही आत्मा उड़ जाएगी
यूं ही आत्मा उड़ जाएगी
Ravi Ghayal
Speciality comes from the new arrival .
Speciality comes from the new arrival .
Sakshi Tripathi
मिमियाने की आवाज
मिमियाने की आवाज
Dr Nisha nandini Bhartiya
शीर्षक:
शीर्षक: "ओ माँ"
MSW Sunil SainiCENA
💐अज्ञात के प्रति-9💐
💐अज्ञात के प्रति-9💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
Ravi Malviya
मोहन तुम से तुम्हीं हो, ग्रथित अनन्वय श्लेष।
मोहन तुम से तुम्हीं हो, ग्रथित अनन्वय श्लेष।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कालजई रचना
कालजई रचना
Shekhar Chandra Mitra
"शब्द"
Dr. Kishan tandon kranti
कभी भी ग़म के अँधेरों  से तुम नहीं डरना
कभी भी ग़म के अँधेरों से तुम नहीं डरना
Dr Archana Gupta
अपनी सीमाओं को लांगा
अपनी सीमाओं को लांगा
कवि दीपक बवेजा
इश्क़ इबादत
इश्क़ इबादत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
होली
होली
Manu Vashistha
कहना ही है
कहना ही है
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
मरने से पहले ख्वाहिश जो पूछे कोई
मरने से पहले ख्वाहिश जो पूछे कोई
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
✍🏻 ■ रसमय दोहे...
✍🏻 ■ रसमय दोहे...
*Author प्रणय प्रभात*
कैसे कांटे हो तुम
कैसे कांटे हो तुम
Basant Bhagwan Roy
हाइकु कविता
हाइकु कविता
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हे माधव
हे माधव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
एहसासों से हो जिंदा
एहसासों से हो जिंदा
Buddha Prakash
"लक्ष्य"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आइना अपने दिल का साफ़ किया
आइना अपने दिल का साफ़ किया
Anis Shah
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तो क्या तुम्हारे बिना
तो क्या तुम्हारे बिना
gurudeenverma198
अवसान
अवसान
Shyam Sundar Subramanian
मस्ती का त्यौहार है,  खिली बसंत बहार
मस्ती का त्यौहार है, खिली बसंत बहार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
युद्ध के विरुद्ध कुंडलिया
युद्ध के विरुद्ध कुंडलिया
Ravi Prakash
तलाश है।
तलाश है।
नेताम आर सी
Loading...