Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बुंदेली दोहा- पैजनिया

बुंदेली दोहा- पैजनिया

पैजनिया झंकार तो,
करतइ दिल पै वार।
मधुर ध्वनि सुनते जितै,
झूमत मन के तार।।
***12-6-2021

© राजीव नामदेव “राना लिधौरी” टीकमगढ़
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका टीकमगढ़
मोबाइल-9893520965

135 Views
You may also like:
दरिंदगी से तो भ्रूण हत्या ही अच्छी
Dr Meenu Poonia
ममता की फुलवारी माँ हमारी
Dr.Alpa Amin
"सुन नारी मैं माहवारी"
Dr Meenu Poonia
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
💐💐धर्मो रक्षति रक्षित:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुन लो बच्चों
लक्ष्मी सिंह
पिता
Meenakshi Nagar
दिल की आवाज़
Dr fauzia Naseem shad
सूरज की पहली किरण
DESH RAJ
जवानी
Dr.sima
किसी ने कहा, पीड़ा को स्पर्श करना बंद कर पीड़ा...
Manisha Manjari
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
आदरणीय अन्ना हजारे जी दिल्ली में जमूरा छोड़ गए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"कारगिल विजय दिवस"
Lohit Tamta
काश उसने तुझे चिड़ियों जैसा पाला होता।
Manisha Manjari
धन्य है पिता
Anil Kumar
The Survior
श्याम सिंह बिष्ट
एक गलती ( लघु कथा)
Ravi Prakash
ना पूंछ तू हिम्मत।
Taj Mohammad
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
विन्यास
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आओ मिलके पेड़ लगाए !
Naveen Kumar
✍️ओर भी कुछ है जिंदगी✍️
"अशांत" शेखर
मै हिम्मत नही हारी
Anamika Singh
अशक्त परिंदा
AMRESH KUMAR VERMA
मेरे पापा जैसे कोई नहीं.......... है न खुदा
Nitu Sah
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
Loading...