Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Dec 2021 · 1 min read

” बिल्ली “

अन्य जानवर जैसी ही जानवर हूं मैं
क्यों मुझे तुम सब अपशकुन मानते
जब मैं सीधी घर जाऊं अपने रास्ते पर
तो क्यों मुझे देख तुम सहसा रुक जाते,
कुत्ते, बंदर, गाय इत्यादि अनेकों जानवर
रोज तुम्हें सुबह शाम गली में टकरा जाते
तब कतई माथा नहीं भिनभिनाता तुम्हारा
बिल्ली नाम से क्यों संकीर्ण सोच दिखाते,
घूमने फिरने का मेरा भी तो मन है करता
काटा बिल्ली ने रास्ता सोच क्यों घबराते
वैज्ञानिक युग में लिया है जब तुमने जन्म
तो अन्धविश्वास से स्वयं को क्यों बंधा पाते,
मीनू से कहे बिल्ली अजीब परंपरा क्यों बनाई
गर्भवती होऊं जब मैं तब देख खुश हो जाते
मेरा अवशिष्ट तब कैसे तुम्हे अमीर बनाएगा
लेकिन फिर भी उसे पाकर भाग्यशाली मानते,
अरे कुछ नहीं रखा ऐसे शून्य अन्धविश्वास में
अन्य जानवरों की तरह काश मुझे भी पालते
अपशकुन नहीं समझी जाती मैं राह चलते
देखकर मुझे अपना नया रास्ता नहीं डालते।
Dr.Meenu Poonia jaipur

Language: Hindi
Tag: कविता
3 Likes · 502 Views
You may also like:
पेड़
Sushil chauhan
🌹🌺शायद तुम भी मेरा कभी यकीन करोगे🌺🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कुछ सवाल
manu sweta sweta
दुआ
Alok Saxena
हे गणपति गणराज शुभंकर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
संगीत
Surjeet Kumar
अनंत करुणा प्रेम की मुलाकात
Buddha Prakash
स्वतंत्रता दिवस
★ IPS KAMAL THAKUR ★
ये हवाएँ
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️इत्तिहाद✍️
'अशांत' शेखर
कुछ दोहे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
आत्मा को ही सुनूँगा
राहुल द्विवेदी 'स्मित'
यथार्थ से दूर "सेवटा की गाथा"
Er.Navaneet R Shandily
रास्ता
Anamika Singh
दीप आवाहन दोहा एकादश
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दोस्त हो जो मेरे पास आओ कभी।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️जिंदगानी ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
गम होते हैं।
Taj Mohammad
*समता भरी कहानी (मुक्तक)*
Ravi Prakash
सबके मन मे राम हो
Kavita Chouhan
उमीद-ए-फ़स्ल का होना है ख़ून लानत है
Anis Shah
सब्र रख बंदे...
Seema 'Tu hai na'
पेन-गन (क़लम-बंदूक)
Shekhar Chandra Mitra
भूत अउर सोखा
आकाश महेशपुरी
■ गीत- / बित्ते भर धरती, मुट्ठी भर अम्बर...!
*Author प्रणय प्रभात*
हम स्वार्थी मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
दीप संग दीवाली आई
डॉ. शिव लहरी
बहुत तकलीफ देता है
Dr fauzia Naseem shad
जीवनामृत
Shyam Sundar Subramanian
"बीमारी न छुपाओ"
Dushyant Kumar
Loading...