Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 27, 2021 · 1 min read

बिन प्यार के तेरे

बिन प्यार के तेरे
‐——————

जिंदगी की उड़ान जैसे थम सी गई थी
बिन तेरे ये जिंदगी जैसे रुक सी गई थी,
तेरा आना तो है जैसे उम्मीद की एक किरण
वर्ना जिंदगी नाउम्मीद ठहर सी गई थी।

सब कुछ लुटाए बैठा था इंतजार में तेरे
सांसे भी बची थीं गिनती की दीदार को तेरे,
तेरा आना तो है जैसे मिला जीवन नया मुझे
वर्ना जिंदगी बे रौनक थी बिन प्यार के तेरे।

संजय श्रीवास्तव
बालाघाट, मध्य प्रदेश

123 Views
You may also like:
मां
Umender kumar
“ फेसबूक मित्रों की मौनता “
DrLakshman Jha Parimal
✍️इंतज़ार के पल✍️
'अशांत' शेखर
सूरत -ए -शिवाला
सिद्धार्थ गोरखपुरी
वक्त बदलता रहता है
Anamika Singh
हमारे शुभेक्षु पिता
Aditya Prakash
हे मनुष्य!
Vijaykumar Gundal
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
बस तुम ही तुम हो।
Taj Mohammad
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
I Can Cut All The Strings Attached
Manisha Manjari
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हाय! सुशीला
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" शिवोहम रिट्रीट "
Dr Meenu Poonia
कोशिश
Anamika Singh
जीतने की उम्मीद
AMRESH KUMAR VERMA
ईद के बहाने ही सही।
Taj Mohammad
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
मंजिल दूर है
Varun Singh Gautam
तुम मुझे
Dr fauzia Naseem shad
गाफिल।
Taj Mohammad
'बाबूजी' एक पिता
पंकज कुमार "कर्ण"
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
मंजिल
AMRESH KUMAR VERMA
"फौजी और उसका शहीद साथी"
Lohit Tamta
बंदर भैया
Buddha Prakash
दोस्ती का जो
Dr fauzia Naseem shad
ज़िंदगी याद का
Dr fauzia Naseem shad
बुद्धिजीवियों पर हमले
Shekhar Chandra Mitra
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...