Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बिन थाह समुंदर का किस काम का पानी है।

२२१ १२२२ २२१ १२२२
बिन थाह समुंदर का किस काम का पानी है।
उस घाट से’ क्या लेना जिस पाल विरानी है।।(१)

कब कौन भरोसा है दुनिया की’ बजरिया में।
महफ़िल ही’ नहीं ये तो दुनिया अनजानी है।।(२)

नफरत न करो हमसे हम प्यार तुम्हारा हैं।
कुर्बान हैं’ हम तुम पर, कुर्बान जवानी है।(३)

तुम भूल रहे खुद को महफ़िल जो’ सजाई है,
तेरी ही’ नहीं यह तो जन जन की’ कहानी है।(४)

मिलते हैं’ सफर में राही खुद का’ हमें कहकर
मिल-मिल के बिछुड जाना यह बात पुरानी है।(५)

1 Like · 166 Views
You may also like:
*सर्वोत्तम शाकाहार है (गीत)*
Ravi Prakash
*** " चिड़िया : घोंसला अब बनाऊँ कहाँ....??? " ***
VEDANTA PATEL
अंकपत्र सा जीवन
सूर्यकांत द्विवेदी
ख्वाब तो यही देखा है
gurudeenverma198
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️हौंसला जवाँ उठा है✍️
'अशांत' शेखर
कर्ण और दुर्योधन की पहली मुलाकात
AJAY AMITABH SUMAN
प्यार का अलख
DESH RAJ
'जिंदगी'
Godambari Negi
*जिनको डायबिटीज (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सीखने का हुनर
Dr fauzia Naseem shad
पत्थर दिल है।
Taj Mohammad
मेरी जान तिरंगा
gurudeenverma198
تیری یادوں کی خوشبو فضا چاہتا ہوں۔
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
प्रतीक्षा करना पड़ता।
Vijaykumar Gundal
मायके की धूप रे
Rashmi Sanjay
✍️जिंदगी खुला मंचन है✍️
'अशांत' शेखर
मेरी हर शय बात करती है
Sandeep Albela
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
हंस है सच्चा मोती
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
✍️बुलडोझर✍️
'अशांत' शेखर
वो मेरा हो नहीं सकता
dks.lhp
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
संघर्ष
Anamika Singh
यादों के झरोखों से।
Taj Mohammad
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
मजदूरों की दुर्दशा
Anamika Singh
Loading...