Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 24, 2016 · 1 min read

बिटिया रानी

एक अनलिखी अनपढ़ी कहानी हूं,
मैं जूही, चंपा व रातरानी हूं,

हंसता बचपन और गुड्डे गुङिया,
मैं तो बाबा की बिटिया रानी हूं,

बङी हुई तो रंगत गोरी निखरी,
पर मैं शापित व पीङित जवानी हूं,

वहसी नजरें, शोषित जीवन, दहेज,
पिता का झुका शीश, परेशानी हूं,

मेरी वजह से सहते बहुत बाबा,
क्या ईश्वर की भूल व नादानी हूं,

पर बाबा विश्वास करो, मैं कम कब,
मैं गौरव की अनसुनी कहानी हूं,

इंदिरा, कल्पना व नीरजा हूं,
मैं ही तो झांसी की मर्दानी हूं,

तेरे भाल का तिलक बनती बाबा,
मैं तेरी बिटिया बङी सयानी हूं,

पुष्प ठाकुर

232 Views
You may also like:
मौसम की तरह तुम बदल गए हो।
Taj Mohammad
खोकर के अपनो का विश्वास ।......(भाग- 2)
Buddha Prakash
कर भला सो हो भला
Surabhi bharati
यूं हुस्न की नुमाइश ना करो।
Taj Mohammad
वो हैं , छिपे हुए...
मनोज कर्ण
✍️पत्थर-दिल✍️
"अशांत" शेखर
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
नोटबंदी ने खुश कर दिया
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ये पहाड़ कायम है रहते ।
Buddha Prakash
जातिगत जनगणना से कौन डर रहा है ?
Deepak Kohli
अवधी की आधुनिक प्रबंध धारा: हिंदी का अद्भुत संदोह
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हाँ, वह "पिता" है ...........
Mahesh Ojha
नव सूर्योदय
AMRESH KUMAR VERMA
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
प्रेम की पींग बढ़ाओ जरा धीरे धीरे
Ram Krishan Rastogi
मृगतृष्णा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
तात्या टोपे बलिदान दिवस १८ अप्रैल १८५९
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खोलो मन की सारी गांठे
Saraswati Bajpai
पिता
Aruna Dogra Sharma
योगा
Utsav Kumar Aarya
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
** बेटी की बिदाई का दर्द **
Dr. Alpa H. Amin
आओ अब यशोदा के नन्द
शेख़ जाफ़र खान
राम के जन्म का उत्सव
Manisha Manjari
ख्वाब रंगीला कोई बुना ही नहीं ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
सत्य कभी नही मिटता
Anamika Singh
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
✍️वो कहना ही भूल गया✍️
"अशांत" शेखर
कमर तोड़ता करधन
शेख़ जाफ़र खान
Loading...